Tuesday, April 25, 2017

अपनी संस्कृति को पहचानें भारतीय - देवी चित्रलेखा


gau-seva-dham-hospital-hodal-palwal


पलवल (abtaknews.com )होडल स्थित गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में देवी चित्रलेखा के सानिध्य में चल रहे गौ महामहोत्सव के तीसरेे दिन महामडंलेश्वर धर्मदेव महाराज, डा0 संजय कृष्ण सलिल, पं0 कृष्ण चंद शास्त्री के सुपुत्र इन्द्रेश उपाध्याय का आगमन हुआ।सर्वप्रथम गौ सेवा धाम का भ्रमण कर बहाँ उपस्थित गौ माताओं को गुड़ खिलाकर आगतुंक संतों ने नमन किया।यहाँ होरहीगौसेवा के लियेदेवीजीको शुभकामनादेतेहुयेसतंजनों नेकहाकि यहाँ सच्चेअर्थोंमेंगौसवा की जारहीहै।रोटीबनानेबालीमशीन की विशेषप्रशंसाकरतेहुयेकहाकिइसमशीनसेबीमारगायों के लियेकम समय मेंअधिकरोटियाँ बनतीहैजिससे समय की बचतहोतीहैसाथहीगायोंको शु˜भोजनमिलताहै।
gau-seva-dham-hospital-hodal-palwal

तत्पश्चात बह अत्याधुनिक वातानूकूलित आपरेशन थियेटर में पहुँचें जहाँ उन्हें गौ सेवा के मीडिया प्रभारी राहुल शर्मा ने बताया कि दुर्घटना ग्रस्त गौ माताओं के उपचारहेतू यह अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त आँपरेशन थियेटर है।जहाँ बड़े-बड़े आपरेशन को सफलतापूर्वक सम्पादित किया जाता है।सम्पूर्ण गौ सेवा धामकानिरीक्षणकरने के बादमहाराजश्रीभागवतकथा के आयोजनस्थलपरपहुँचे।जहाँ परचलरहीश्रीमद् भागवतकथा के तृतीय दिवसके अवसरपरपूज्यादेवीचित्रलेखाजीभागवतकथाकावाचनकररहीथी।
पूज्यादेवीजी ने कथाप्रसंगोंमेंशुकदेवजीआगमन, धु्रवचरित्र, अजामिल एवंभक्तप्रहलादकीकथासुनाईं।देवीजी ने कथासुनातेहुयेकहाकिवर्तमान समय मेंमाता-पिताकोअपनेबच्चोंकोप्रहलाद एवं धु्रव के प्रसंगसुनानेचाहिये।जिससेकिबालकोंकासम्पूर्णनैतिकविकासहो।देवीजी ने कहाकिआजकलसमाजमेंफैलीहुईकुरीतियोंका एकमात्र कारणहमाराअपनीसंस्कृतिसेदूरहोजानाहै।गौसेवा धाम के अध्यक्ष पं0 टीकाराम शर्मा  ने बतायाकिइसभागवतकथाकाआयोजनसप्तदिवसीय हैजिसकाउद्देश्य गौमाता की सुरक्षाहेतूसरकारसेनियमबनबानाहैंसाथहीउन्होनबतायाकिबाबारामदेव , पूज्य मोरारीबापूआदिकईबड़ेसतोंकाआगमनइसकथामेंहोचुकाहै एवंआगेभीकईसतोंकाआगमनहोनाहै।सम्पूर्णगौमहामहोत्सवमेंश्रीराधेश्यामकालडा, बाबूरामकालड़ा,  अमीरचदं, एकतागौशालागोवर्धन के अध्यक्ष श्रीतीर्थराजगर्ग , रमेश चंद गर्ग, गौसेवा धाम के महामंत्री प्रत्यक्ष शर्मा, पं0 दुर्गाप्रसादकौशिक, राहुल शर्मा, विनोद शर्मा, पुनीतगौड़, विष्णुभारद्वाज,बृजेन्द्रकौशिक ,दारासिहं,रामवीरसिहं, वकीलबेनीवाल, अमर सिंह, बबलू, गौरक्षादलकोसी, होडल एवंपलवलआदिकाविशेषसहयोगरहा।


loading...
SHARE THIS

0 comments: