Friday, April 28, 2017

सिद्धदाता आश्रम में पांच दिवसीय दसवें ब्रह्मोत्सव की शुरुआत



फरीदाबाद(abtaknews.com )यहां रामानुज संप्रदाय के तीर्थ क्षेत्र के रूप में ख्यात हो रहे श्री सिद्धदाता आश्रम में पांच दिवसीय दसवें ब्रह्मोत्सव की जोरदार शुरुआत हुई। इस अवसर पर दक्षिण भारत से आए विद्वान पुजारी पांच दिन तक पांचरात्र आगम विधान द्वारा पूजा अर्चना करेंगे। गौरतलब है कि रामानुज संप्रदाय के प्रवर्तन भाष्यकार रामानुज स्वामी दक्षिण के तमिलनाडू प्रांत स्थित श्री पेरूंबदूर से संबंध रखते थे। 

28 अप्रैल से दो मई तक चलने वाले इस ब्रह्मोत्सव कार्यक्रम का प्रारंभ एवं पूजन अनंतश्री विभूषित इंद्रप्रस्थ एवं हरियाणा पीठाधीश्वर श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने किया। उन्होंने बताया कि पहले दिन देवता आवाहन व ध्वजारोहण किया गया। जिसमें रामानुज संप्रदाय के दक्षिण से आए पुरोहितों ने अग्रि प्रतिष्ठा एवं यज्ञ आदि विधियों से देवताओं की स्थापना की। इस अवसर पर श्रीमद् जगद्गुरु रामानुजाचार्य स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने कल्याण यज्ञ कर लोकमंगल की कामना की और हजारों भक्तों को प्रसाद वितरित किया। 
श्री सिद्धदाता आश्रम में आयोजित इस दसवें ब्रह्मोत्सव में पांचों दिन विभिन्न प्रकार के धार्मिक कार्यक्रम होंगे, जिनमें रविवार &0 अप्रैल को भगवान श्री लक्ष्मीनारायण का विवाह, सोमवार एक मई को संप्रदाय परमाचार्य भाष्यकार रामानुज स्वामी की जयंती पर पूजन एवं शोभायात्र एवं मंगलवार दो मई को भगवान श्री लक्ष्मीनारायण का पूजन उपरांत विशाल शोभायात्राओं का भी आयोजन होगा। इसके साथ ही नित्य भगवान का आवाहन, आराधन, हवन, भंडारा आदि का आयोजन होगा। जिसमें देश विदेश से हजारों की संख्या में भक्त शामिल होंगे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: