Tuesday, April 11, 2017

निजीकरण के खिलाफ कर्मचारीओ का प्रदर्शन





फरीदाबाद, 11 अप्रैल,2017(abtaknews.com ) फरीदाबाद के आकर्षण का मुख्य केन्द्र हुडा टाऊन पार्क का निजीकरण सहन नहीं किया जाएगा। इस पर रोक लगाने के लिए हुडा जनस्वास्थ्य कर्मचारी यूनियन संबंधित सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ऐड़ी-चोटी का जोर लगायेगी। फरीदाबाद इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रयासों को सफल नहीं होने दिया जाएगा। यह जानकारी यूनियन के जिला प्रधान खुर्शीद व सचिव धर्मवीर वैष्णव ने आक्रोषित विरोध प्रदर्शन में दी। यूनियन के सैकड़ों कर्मचारी मुख्य प्रशासक हुडा पंचकुला के पार्क टाऊन फरीदाबाद के एफआईए को सौंपने के निर्णय के विरोध में हुडा टाऊन पार्क में एकत्रित हुए। वहां से प्रदर्शन करते हुए हुडा प्रशासक के कार्यालय में पहुंचे। प्रदर्शन का नेतृत्व सर्कल प्रधान खुर्शीद ने किया जबकि संचालन सचिव धर्मवीर वैष्णव ने किया। मुख्य प्रशासक के नाम ज्ञापन हुडा प्रशासक की गैर मौजूदगी में सम्पदा अधिकारी फरीदाबाद को सौंपा। उन्होंने आश्वासन दिया कि अपनी रिकमन्डेशन करके मुख्य प्रशासक को भेज दिया जाएगा।
प्रदर्शन को सम्बोधित करते हुए सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के मुख्य संगठनकर्ता वीरेन्द्र सिंह डंगवाल, वरिष्ठ उपप्रधान नरेश कुमार शास्त्री ने सरकार पर सार्वजनिक क्षेत्रों का निजीकरण करने का आरोप लगाते हुए बताया कि मुख्य प्रशासक हुडा, पंचकूला ने अपने पत्र को इस पार्क की देख-रेख का जिम्मा बागवानी डिवीजन हुडा से करवाने के बजाये एफआईए फरीदाबाद से करवाने का आदेश जारी किया। आनन-फानन में दिए गए निर्देशों में इस बात का भी ख्याल नहीं रखा गया कि बागवानी के कर्मचारियों पर इस पार्क के सौन्दर्यीकरण को बनाये रखने के लिए कितनी धनराशि खर्च की जाती है। दोनों नेताओं ने बताया कि लगभग 40 एकड़ में विकसित इतने बड़े पार्क को हरा-भरा बनाये रखने में करीब 25 कर्मचारी लगे हुए है इनको पौधों व सडक़ पार्क पट्टी, हरित पट्टी एवं फुव्वारों को संचालित करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। कर्मचारी इसको बहुत कम राशि में पूरा करते हैं।
सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान अशोक कुमार ने कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए चेतावनी भरे लहजे में कहा कि इस पार्क को निजी हाथों में नहीं जाने देगें, चाहे इसके लिए सर्व कर्मचारी संघ को आन्दोलन अपने हाथों में लेकर कोई भी कुर्बानी देनी पड़े। उन्होंने कहा कि पार्क को निजी हाथों में सौंपने के बाद इसमें प्रवेश शुल्क लगाकर रोजगार का धंधा बना दिया जाएगा। प्रदर्शन को अन्य के अलावा धीरज चंदेला, उदयराम शर्मा, ओमपाल, रणजीत, ओमप्रकाश, कुमरभान, मोहम्मद रसीद आदि नेताओं ने भी सम्बोधित किया।


loading...
SHARE THIS

0 comments: