Friday, April 7, 2017

अग्रवाल कॉलेज में स्वाथ्य दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन


agarwal-college-ballabgarh-celebration-health-day

फरीदाबाद (abtaknews.com )उच्चतर शिक्षा निदेशालय हरियाणा एवं हरियाणा राज्य एड्स कंट्र¨ल स¨सायटी, पंचकुला क निर्देषन से अग्रवाल महाविद्यालय क¢ सभागार में यूथ रैड क्रॅास अ©र रैड रिबन क्लब क¢ तत्वाधान में विषव स्वास्थय दिवस क¢ अवसर पर संग¨श्ठी अ©र परिचर्चा आय¨जित की गई प्
इस अवसर पर महाविद्यालय क¢ यूथ रैड क्राॅस अ©र एन.एस.एस. क¢ सभी स्वय्ांसेवक¨ं ने भाग लिया प् स्वास्थ की जानकारी देने हेतु मुख्य अतिथि क¢ रुप में डाॅ. अनूप सिंह, डिप्टी सिविल सर्जन, बादषाह खान हस्पताल, फरीदाबाद उपस्थित रहे प् कार्यक्रम की अध्यक्षता प्र¨़ एम.पी.सिंह, आजीवन सदस्य इंडियन रैड क्रॅास स¨सायटी, फरीदाबाद ने की प् यूथ रैड क्रॅास अ©र रैड रिबन क्लब क¢ संय¨जक डाॅ. जयपाल सिंह अ©र उनकी टीम की सहय¨गी डाॅ. उशा च©धरी, डाॅ. विन¨द राठी ने अतिथि मह¨दय का पुश्प गुच्छ देकर स्वागत किया प्
agarwal-college-ballabgarh-celebration-health-day

सर्वप्रथम कार्यक्रम संय¨जक डाॅ. जयपाल सिंह ने यूथ रैड क्राॅस अ©र रैड रिबन क्लब द्वारा किये गये सामाजिक व रचनात्मक कायर्¨ं की रुप रेखा पर प्रकाष डालते हुए कहा कि प्राचार्य डाॅ. कृश्ण कांत की सतप्रेरणा से युवाअ¨ं का सर्वांगिण विकास ह¨ रहा है प् विभिन्न प्रकार क¢ रचनात्मक कार्यक्रम महाविद्यालय में निरन्तर आय¨जित किये जाते हैं प् डाॅ. जयपाल जी ने विभिन्न बिमारी की प्रकृति पर प्रकाष डालते हुए कहा की बिमारी खरग¨ष की तरह आती है व कछुए की तरह जाती है प् इस अवसर पर उन्ह¨ंने युवाअ¨ं क¨ भ्प्टध्।प्क्ै क¢ प्रति जागरुक व सजक करने हेतु एक फिल्म भी दिखाई प् उन्ह¨ंने स्वास्थय की जानकारी हेतु 1097 राजकीय हैल्पलाइन की भी चर्चा की प्
इस अवसर पर मुख्य वक्ता डाॅ. अनुप सिंह ने स्वास्थय संबंधी अ©र भिन्न-भिन्न र¨ग¨ं की जानकारी देते हुए कहा कि हर व्यक्ति क¨ जन्म से लेकर मृत्यु तक स्वास्थय क¢ प्रति सजक रहना चाहिए प् यदि मृत्यु क¢ बाद भी उसका संस्कार नहीं किया गया त¨ वह अनेक अनावष्यक बिमारिय¨ं क¨ आमंत्रित कर देता है प् आज क¢ भ©तिकवादी युग में यदि सही मायने में स्वस्थ रहना है त¨ आचार,विचार अ©र आहार में सकारात्मक बदलाव लाने ह¨ंगे क्य¨ंकि आहार का प्रभाव ही विचार¨ं पर पडता है, अ©र विचार से ही उसक¢ आचरण अ©र कर्म पवित्र ह¨ते हैं प् स्वस्थ नियत अ©र नीति से एक स्वस्थ नीयति बनती है प् सुन्दर स्वास्थय क¢ लिए संस्कार, विचार, आहार, य¨ग अ©र व्यायाम मूल मंत्र हैं प् इस अवसर पर प्र¨. एम.पी.सिंह ने भी विद्यार्थिय¨ं क¨ स्वस्थ रहने क¢ टिप्स दिये प् उन्ह¨ंने कहा एक स्वस्थ व्यक्ति ही जीवन का आनन्द ले सकता है प् आज ल¨ग¨ं क¢ मानसिक दबाव अ©र तनाव का मूल कारण यह है कि आज का व्यक्ति तन अ©र मन की अपेक्षा धन कमाने क¨ ही लक्ष्य मान बैठा है प् उसकी यही असमानता उसकी अषान्ति का कारण है प् इस अवसर पर उशा च©धरी जी धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा की स्वस्थ मन का प्रभाव ही स्वस्थ तन पर पडता है प् इस अवसर पर डाॅ. विन¨द राठी, डाॅ. बाॅक¢ बिहारी व डाॅ. रामचन्द्र उपस्थित रहे प्


loading...
SHARE THIS

0 comments: