Friday, April 14, 2017

आंखों ही आंखो में हुए इशारे और बना लिया एटीएम बदलकर धोखाधडी करने वाला गैंग, पुलिस ने धरदबोचा


फरीदाबाद (abtaknews.com) आंखों ही आंखो में हुए ईशारे और बन गया फरीदाबाद में एटीएम बदलकर धोखाधडी करने वाला गिरोहे, एटीएम उपभोक्ताओं से कार्ड बदलकर उनके खाते से पैसे निकालने वाले ऐसे ही एक गिरोह के तीन सदस्यों को फरीदाबाद साईबर सेल टीम ने गिरफ्तार कर लिया है जिनसे बदले गये 4 एटीएम कार्ड, दो फोन और 73 हजार रूपये नगद बरामद किये हैं। ठगी की वारदातों को अंजाम देने वाले इन आरोपियों ने हरिद्वर, दिल्ली एनसीआर सहित फरीदाबाद और पलवल को भी अपने निशाने पर ले रखा था, पिछले  एक साल से सक्रिय ठगों ने अब तक अलग अलग स्थानों पर 15 से 20 वारदातों को अंजाम देकर लाखों रूपयों की सीधे - साधे लोगों को चपत लगाई है। इतना ही नहीं आरोपियों द्वारा पूछताछ में बताये गये ठगी करने वाले अन्य लोगों की भी छानबीन शुरू कर दी है जिन्हें शहर से जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

अगर आप एटीएम उपभोक्ता है तो सावधान हो जाईये कहीं आपके एटीएम से कोई और आपके पैसे न निकाल ले, क्योंकि फरीदाबाद में कई ऐसे ठग आपके आसपास घूम रहे हैं। जिनमें से एक ही गिरोह के तीन सदस्यों को फरीदाबाद साईबर आपराध शाखा ने गिरफ्तार कर लिया है। जो एटीएम उपभोक्ताओं के एटीएम बदलकर उनसे पैसे निकाल रहे थे।  साईबर अपराध शाख फरीदाबाद प्रभारी सुरेश कुमार ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि 7 अप्रैल को उन्हें शिकायत मिली थी कि दिल्ली निवासी सरदू तांती किसी काम से फरीदाबाद आया हुआ था जहां उसे पैसे की जरूरत पडी तो उसने गोंछी के पास एक एटीएम से पैसे निकालने की कोशिश की तो वहां पीछे खडे दो युवकों ने मशीन को हैक कर दिया और मदद के बहाने उनका एटीम बदल लिया,और एटीएम उपभोक्ता को बोल दिया गया कि मशीन काम नहीं कर रही है, मगर उसके दो दिन बाद ही उनके खाते  से 1 लाख 36 हजार रूपये निकाल लिये, जिस पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने धोखाधडी करने वाले तीनों सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया और उनसे 4 एटीएम, दो मोबाईल और 73 हजार रूपये बरामद किये।

रिमांड पर पूछताछ करने पर आरोपियों ने बताया कि वो पिछले एक साल से इसी प्रकार की ठगी करने की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं जिन्हें वो हरिद्वार, दिल्ली, एनसीआर और फरीदाबाद पलवल सहित कई शहरों दर्जनों लोगों को चपत लगा चुके हैं। तीन आरोपियों मेें से एक आरोपी ज्ञानसिंह शादीशुदा है जो कि सदरपुर पलवल का रहने वाला है दूसरा मौनू है जो मथुरा जिले के कोसी शहर का रहने वाला है और तीसरा आरोपी लक्ष्मीनारायण जो बंचारी गांव का रहने वाला फिलहाल इसी कार्य को करने के लिये फरीदाबाद में किराये के मकान में रह रहा है। तीनों की मुलाकात बडे ही रोचक तरीके से आंखों ही आंखों हुए ईशारों से हुई जैसे एक पेशे वाला व्यक्ति अपने ही पेशे वाले व्यक्ति को पहचान लेता है वैसे तीनों एक दूसरे से मिले और मिलकर लोगों को लूटने लगे। अरोपियों ने पूछताछ में बताया कि शहर में और भी लुटेरे है जिनकी तलाश में पुलिस जुट गई है। साथ सुरेश कुमार ने लोगो को जागरूक करते हुए कहा कि शहर में लुटेरे आपको बेवकूफ बनाकर आपका एटीएम बदल लेंगे और आपको अपना एटीएम थमा देंगे, इसलिये आप सुनिश्चित कर लें कि कहीं एटीएम मशीन में आपके आसपास कोई है तो नहीं। ज्ञान सिंह ने बताया कि घर की जरूरतों को पूरा करने के लिये उन्होंने इस पेशे में कदम रखा था और एटीएम से धोखाधडी करने वाली पूरी प्रक्रिया बताई।


loading...
SHARE THIS

0 comments: