Saturday, April 15, 2017

नगर निगम के अधीन होने के बाद सैनिक कालोनी में लगेगी विकास की झड़ी : धुन्ना


फरीदाबाद 15 अप्रैल,2017(abtaknews.com )एशिया की सबसे बड़ी कॉपरेटिव सोसायटी दि फरीदाबाद एक्स सैनिक एवं कर्मचारी कॉपरेटिव हाऊस बिल्डिंग सोसायटी लिमिटेड की वर्षाे पुरानी मांग को मानते हुए राज्य सरकार ने अब इसे नगर निगम फरीदाबाद के अधीन सौंपने का निर्णय ले लिया है। सरकार के इस अह्म निर्णय के बाद  आज सैनिक सोसायटी ने नीलम-बाटा रोड स्थित होटल डिलाईट में एक प्रेस सम्मेलन का आयोजन कर उनकी इस वर्षाे पुरानी मांग को मनवाए जाने पर बडख़ल की विधायक एवं हरियाणा सरकार में मुख्य संसदीय सचिव श्रीमती सीमा त्रिखा के साथ-साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, उद्योग मंत्री विपुल गोयल एवं बल्लभगढ़ के विधायक मूलचंद शर्मा का एक स्वर में आभार व्यक्त किया। पत्रकार सम्मेलन में सैनिक सोसायटी के प्रधान राकेश धुन्ना के अलावा वाईस प्रेसीडेंट अंजू चौधरी, डायरेक्टर महावीर सिंह, डायरेक्टर पूनम आहुजा, अंजू भड़ाना, जयभगवान शर्मा, राघव, अनिल भड़ाना, अनिल शर्मा, जायसवाल एवं भाजपा नेता सुनील भड़ाना टैम्पू सहित सोसायटी कार्यकारिणी के सभी सदस्य मुख्य रुप से मौजूद थे। सोसायटी के प्रधान राकेश धुन्ना ने बताया कि सन् 1972 में बनी यह सोसायटी करीब 113 एकड़ में बनी हुई है, जिसमें 2200 मकान व प्लाट है, अब इस सोसायटी के नगर निगम मेें आ जाने से यहां के लोगों को भी सेक्टर जैसी सभी सुविधाएं प्राप्त होंगी तथा सोसायटी के निवासियों को बिजली, सीवर व पानी आदि मूलभूत सुविधाओं के लिए तरसना नही पड़ेगा। उन्होंने बताया कि सोसायटी इस कालोनी को नगर निगम के अधीन कराने के लिए लम्बे अर्से से प्रयासरत थी, जिसको अमलीजामा पहनाते हुए बडखल की विधायक और हरियाणा सरकार में मुख्य संसदीय सचिव श्रीमती सीमा त्रिखा ने विधायक बनने के उपरांत वर्ष 2015 में आयोजित मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की रैली में उनके समक्ष इस मांग को प्रमुखता से रखा था, जिसका समर्थन केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, हाल में उद्योगमंत्री विपुल गोयल, राज्य सरकार में मंत्री मनीष ग्रोवर एवं बल्लभगढ के विधायक मूलचंद शर्मा ने भी किया था। इसी के अनुरुप मुख्यमंत्री ने इस कालोनी को नगर निगम के अधीन करने का ऐलान किया था, जिसको अब मूर्त रुप प्रदान करते हुए गत 8 अप्रैल, 17 उपायुक्त फरीदाबाद की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई, जिसमें सीपीएस सीमा त्रिखा भी मुख्य रुप से मौजूद रही। उन्होंने आश्वस्त किया कि इस लाईसेंस कालोनी के निगम में ट्रांसफर की प्रक्रिया पूरे होने पर कालोनी के सदस्यों  पर अतिरिक्त बोझ नहीं डाला जाएगा। उन्होंने सीपीएस श्रीमती त्रिखा व निगम कमिश्रर से मांग की है कि कालोनी में व्याप्त पानी की समस्या को दूर करने के लिए यहां रैनीवेल परियोजना के तहत जल्द से जल्द पानी पहुंचाया जाए।  सोसायटी की डायरेक्टर पूनम आहुजा ने सैनिक कालोनी में कुछ भूमाफियाओं का मुद्दा उठाते हुए कहा कि यह लोग कालोनी में अवैध कब्जे व अवैध निर्माण कराने की नीयत से लोगों को बरगलाने का काम कर रहे है। वहीं सोसायटी को बदनाम करने के लिए आए दिन शिकायतबाजी व आरटीआई लगाकर समय को लम्बा खींचना चाहते है। लेकिन सोसायटी पूरी तरह से पाक व साफ है।  अंजू भड़ाना ने कहा कि पिछले 10 वर्ष से सोसायटी के नाम पर राजनीति कर रहे रहनुमा न केवल अपने हित साधकर यहां के लोगों को बरगलाकर इस क्षेत्र को विकास से दूर रखा, लेकिन अब पिछले ढाई साल में सैनिक कालोनी के साथ-साथ पूरे बडखल क्षेत्र में विकास की झडी लगी हुई है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वह विकास में साधक बनने का काम करें, न कि बाधक का। उन्होंने बताया कि ईडीसी के नाम पर सोसायटी ने 3.2 करोड़ रुपए सरकार को जमा करवा दिया है, जबकि 1.31 करोड़ रुपए बकाया है, जिसका माननीय अदालत में केस चल रहा है, अदालत का जो भी फैसला होगा, सोसायटी को मंजूर होगा। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: