Thursday, April 13, 2017

हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल के समर्थन में सर्व कर्मचारी संघ का प्रदर्शन


फरीदाबाद, 13 अप्रैल,2017(abtaknews.com) सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल के समर्थन में प्रदर्शन किया। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ने आरोप लगाया कि सरकार निजी रूट परमिटों को लेकर सोमवार से चल रही रोडवेज कर्मचारियों की बेमियादी हड़ताल को समाप्त करवाने के प्रति गंभीर नहीं है। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा, वरिष्ठ उपप्रधान नरेश कुमार शास्त्री व मुख्य संगठनकर्ता विरेन्द्र डंगवाल ने बताया कि सरकार निजी रूट परमिटों की अधिसूचना को  वापिस लेकर हड़ताल खुलवाने की बजाय दमन व उत्पीडऩ पर उतर आई है। उन्होंने बताया कि सरकार ने अभी तक 105 कर्मचारी नेताओं को निलंबित कर दिया है। संघ नेताओं ने आशंका प्रकट की, कि सरकार रोडवेज की हड़ताल पर एस्मा लगाने के प्रयास कर रही है। उन्होंने परिवहन मंत्री की अध्यक्षता में चल रहे बातचीत के दौर पर सवाल उठाते हुए कहा कि रूट परमिटों को निजी हाथों में देने का मामला नीतिगत है और स्वयं मुृख्यमंत्री इस पर निर्णय ले सकते हैं, इसलिए मंत्री की बजाय माननीय मुख्यमंत्री को बातचीत करनी चाहिए, ताकि मसले का समाधान हो सके। उल्लेखनीय है कि सोमवार से रूट परमिटों को निजी हाथों में देने के विरोध में हरियाणा रोडवेज की बसों का चक्का पूरी तरह जाम है और आज भी कोई बस डिपो से बाहर नहीं आई।
सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के जिला प्रधान अशोक कुमार, वरिष्ठ उपप्रधान गुरचरण खांडिया व सचिव युद्धवीर सिंह खत्री ने आज यहां जारी संयुक्त बयान में बताया कि विभिन्न विभागों के कर्मचारी आज पहले बल्लभगढ़ रेस्ट हाऊस में एकत्रित हुए उसके बाद उनका विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ। यहां से हरियाणा सरकार की रोडवेज के रूट परमिटों को निजी हाथों में देने की हठधर्मिता, कर्मचारी नेताओं के किए जा रहे निलंबन व एस्मा जैसे काले कानून को लगाने के प्रयासों के खिलाफ बाजार में प्रदर्शन करते हुए बस स्टैंड पर पहुंचकर हड़ताली रोडवेज कर्मचारियों के प्रति एकजुटता प्रकट करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार रोडवेज कर्मचारियों को अकेला समझने की भूल न करे और सरकार ने एस्मा लगाया तो सभी विभागों के कर्मचारी एकजुटता के साथ इसका करारा जबाव देंगे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: