Monday, April 24, 2017

एसवाईएल के मामले में मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रधानमंत्री मोदी से मिलकर विपक्ष पर खूब बरसे



चण्डीगढ़, 24 अप्रैल,2017(abtaknews.com ) हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल आज आक्रामक रूप में नजर आये और उन्होंने विपक्ष पर जमकर प्रहार किए। उन्होंने जनता को विपक्ष के ओछे हथकंडों से सावधान रहने की सलाह देते हुए कहा कि पहले विपक्षी नेता कहते थे कि एसवाईएल के मामले में मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री से क्यों नहीं मिलते और जब मैं मिल आया और एसवाईएल, जीएसटी, किसानों आदि के बारे में प्रधानमंत्री से चर्चा कर आया तो कहते हैं कि हमें क्यों नहीं साथ लेकर गए। श्री मनोहर लाल ने कहा कि वे प्रदेश की ढाई करोड़ जनता का प्रतिनिधित्व करते हैं और मुख्यमंत्री पर अविश्वास जताकर विपक्ष ने उस ढाई करोड़ जनता का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी नेता श्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और कुलदीप शर्मा को यदि जाना है तो वे अपनी नेता श्रीमती सोनिया गांधी के पास जायें और कहें कि वे पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को रोकें, जो कहते नहीं थकते कि एसवाईएल के माध्यम से रावी-ब्यास का पानी हरियाणा में नहीं जाने देंगे। श्री मनोहर लाल ने सवाल किया कि आखिर वे कौन होते हैं इस पानी को रोकने वाले। देश के सर्वोच्च न्यायालय ने हरियाणा के पक्ष में फैसला दिया है और अभी एक फैसला और आना बाकी है, उसके बाद एसवाईएल को बनने से कोई नहीं रोक सकता।    
मुख्यमंत्री आज फरीदाबाद के एनआईटी विधानसभा क्षेत्र तथा बल्लबगढ़ विधानसभा क्षेत्र में लगभग 195 करोड़ रुपये से पूरी होने वाली विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखने आये थे। उन्होंने इनेलो के विधायक श्री नगेन्द्र भडाना के एनआईटी विधानसभा क्षेत्र में लगभग 158 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की आधारशिला रखी। इसी प्रकार उन्होंने बल्लबगढ़ विधानसभा क्षेत्र के लिए अनाज मण्डी में लगभग 37 करोड़ की लागत से पूरी होने वाली 9 परियोजनाओं की आधारशिला रखी।
दोनों स्थानों पर उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कांग्रेस पर जमकर प्रहार किए। उन्होंने कहा कि हम जनता को सुख पहुंचाना चाहते हैं लेकिन कांग्रेसी नेता यह कहते हुए घडिय़ाली आंसू बहाते हैं कि कुछ नहीं हो रहा। श्री मनोहर लाल ने कहा कि कांगे्रस के नेता जनता के बीच जाकर देखें, उन्हें पता चल जायेगा कि विकास हो रहा है अथवा नहीं। आंकड़े देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले लगभग ढाई साल में हमने प्रदेश के 90 विधानसभा क्षेत्रों में कुल 3500 घोषणाएं की हैं, जिनमें से 44 प्रतिशत पूरी भी हो चुकी हैं और बाकी बची हुई अगले एक वर्ष में पूरी हो जायेंगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के 10 वर्ष के शासनकाल में लगभग 6500 घोषणाएं की गई थी। यदि जनता के सहयोग से हमें 10 वर्ष का समय मिला तो हमारी घोषणाएं 10 हजार से ज्यादा होंगी और हम एक भी  ऐसी घोषणा छोडक़र नहीं जायेंगे जिस पर काम नहीं हुआ हो। सभी घोषणाओं को पूरा करवायेंगे। उन्होंने बताया कि फरीदाबाद जिला के छ: विधानसभा क्षेत्रों में लगभग 1200 करोड़ रुपये की घोषणाएं की गई हैं।
 श्री मनोहर लाल ने कहा कि कांग्रेसी हमें फीता काटू सरकार बताते हैं और किसी परियोजना का शिलान्यास या उद्घाटन करें तो उसे ही कह देते हैं कि यह तो हमारी योजना थी। उन्होंने कांग्रेस से सवाल किया कि आखिर क्या जरूरत थी कि आपने 2013 में घोषणाएं की और उन्हें पूरा नहीं किया जब कि एक नवम्बर 2013 से अक्तूबर 2014 तक आपको एक वर्ष का समय पूरा मिला था। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार निरन्तर चलने वाली प्रक्रिया है और हम पिछली सरकार के सारे गड्ढे भरेंगे और हमारी घोषणाओं का भी पूरा करवायेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि हम सेवा के लिए हैं और पीढिय़ों का जुगाड़ करने नहीं आये हैं। 
     प्रदेश में लिंगानुपात में हुए सुधार का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि लिंगानुपात का सर्वेक्षण कोई पहली बार नहीं हुआ है। पिछली सरकारों के कार्यकाल में भी होता रहा है। भाजपा सरकार ने इस ओर ध्यान दिया और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ कार्यक्रम की शुरूआत हरियाणा से की जिसकी बदौलत हरियाणा में लिंगानुपात 850 से बढक़र अब 950 हो गया है। श्री मनोहर लाल ने कहा कि हम विकास के साथ-साथ सामाजिक मुद्दों पर भी काम कर रहे हैं। 
     उन्होंने कहा कि जो महिलाएं लकड़ी या कोयला जला कर खाना पकाती थी, उनके घरों में गैस का चूल्हा पहुंच गया है। श्री मनोहर लाल ने मौके पर ही महिलाओं से पूछा कि कोई बहन अब भी ऐसी रह गई हो जिसके घर में घरेलू गैस का चूल्हा नहीं हैं तो वह हाथ खड़ा करें। एनआईटी क्षेत्र के कार्यक्रम में केवल एक महिला ने हाथ उठाया और बल्लभगढ़ अनाज मण्डी में आयोजित कार्यक्रम में 6-7 महिलाओं ने हाथ उठाया। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि  ये महिलाएं आज शाम ही अपने जिला के उपायुक्त से सम्पर्क करें, उन्हें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गैस का चूल्हा दिया जायेगा। साथ ही श्री मनोहर लाल ने कहा कि हमने हरियाणा को कैरोसिन फ्री राज्य बना दिया है क्योंकि राशन डिपो से मिलने वाला मिट्टी का तेल गरीब के घर में न जाकर सीधे पैट्रोल पम्प पर मिलावटखोरी के लिए चला जाता था। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में ऐसे हमारे कई रिकार्ड बनेंगे। 
     मुख्यमंत्री ने अध्यापकों की ऑनलाइन ट्रांसफर पॉलिसी का भी उल्लेख करते हुए कहा कि पहले अध्यापक अपने तबादले के लिए वर्ष भर चक्कर लगाते रहते थे लेकिन अब ऑनलाइन ट्रांसफर होने से 93 प्रतिशत अध्यापकों को मनचाहे स्टेशन मिले हैं। दिल्ली में हुए कार्यक्रम में देश के कई प्रान्तों ने हमारी अध्यापक ट्रांसफर पॉलिसी मांगी है, वे भी अपने यहां इसी तर्ज पर पॉलिसी बनाना चाहते हैं। 
     फरीदाबाद को स्मार्ट सिटी बनाने का जिक्र करते हुए श्री मनोहर लाल ने फरीदाबाद वासियों से अपील की कि वे अपने सम्पत्ति कर, बिजली का बिल समेत सरकार के जितने भी टैक्स हैं उनकी अदायगी समय पर करें क्योंकि केन्द्र सरकार स्मार्ट सिटी बनाने के लिए पैसा मैचिंग ग्रांट के रूप में देती है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में बिजली की कमी नहीं है और सरकार सभी उपभोक्ताओं को निर्बाध बिजली आपूर्ति करना चाहती है परन्तु लोगों को भी अपने बिजली के बिल समय पर भरने चाहिएं। अन्यथा बिल नहीं भरने वाले क्षेत्रों में ज्यादा बिजली देने से घाटा बढ़ेगा और विकास के कार्य नहीं हो पायेंगे। 
     इससे पहले केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री श्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में दोनों सरकारों से कमा कर खाने वाला कोई व्यक्ति नाराज नहीं है। केवल भ्रष्टाचार करने वाले लोग ही नाराज हैं क्योंकि श्री मोदी और श्री मनोहर लाल न खाते हैं और न खाने देते हैं। उन्हों

loading...
SHARE THIS

0 comments: