Sunday, April 9, 2017

श्री श्याम संकीर्तन में भक्तिमय भजनों पर रातभर जमकर झूमे भक्त


फरीदाबाद 9 अप्रैल(abtaknews.com ) श्री श्याम बाबा सेवा ट्रस्ट के तत्वाधान में शनिवार रात दशहरा मैदान में 19वांं विशाल श्री श्याम संकीर्तन हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस दौरान देश के विभिन्न हिस्सों से आए भजन गायकों ने अपनी मधुर आवाज में गाए भजनों पर शहरवासियों को थिरकने के लिए मजबूर कर दिया।
संकीर्तन में पवन गोदियाल के द्वारा मधुर झांकियों को दर्शकों ने खूब सरहाया। दर्शकों से खचाखच भरे दशहरा मैदान में संकीर्तन की शुरूआत पूरे पूजा की विधिविधान से हुई। फरीदाबाद की महापौर सुमन बाला ने ज्योति प्रचंड कर संकीर्तन महोत्सव की शुरूआत की। इस दौरान मंच संचालक सुशील गौतम ने बखूबी निभाया। कार्यक्रम की शुरूआत गणेश वंदना से हुई। संकीर्तन में उद्योग मंत्री विपुल गोयल, विधायक मूलचंद शर्मा, पूर्व संसदीय सचिव कुमारी शारदा राठौर, पार्षद दीपक चौधरी, पूर्व पार्षद राव रामकुमार सहित अनेकों गणमान्य लोगों ने भगवान श्री श्याम से आर्शीवाद लिया। इस दौरान उद्योगमंत्री विपुल गोयल ने संस्था को हर संभव मदद करने की घोषणा की। इस मौके पर संस्था के प्रधान श्याम सुदंर गोयल, वरिष्ठ उपप्रधान अनिल वशिष्ठ, उपप्रधान संजीव त्यागी, उपप्रधान बाल किशन वर्मा, महासचिव महेंद्र बसंल, प्रचार मंत्री दीपक ठाकुर, के.सी.शर्मा कोषाध्यक्ष, सेतू मित्तल सहित सभी ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने आए हुए कलाकारों और हार्दिक अभिवादन किया। इस मौके पर कोलकाता से आए संदीप सुल्तानिया,बरेली की अंजली द्विवेदी, कोलकता के राजू मेहरा, यमुना नगर के स्वामी रामजी दास ने श्री श्याम के दरबार शानदार भजनों के माध्यम से अपनी-अपनी हाजिरी लगाई। इस दौरान संदीप सुल्तानिया ने अपने ‘नैनन में श्याम समाएगें, मोह प्रेम का रोग लगाएंगे। कान्हा की दीवानी बन जाउगीं व घनश्याम तेरी बंसी पागल कर जाती है, नामक भजनों ने भक्तों को झूमने के लिए मजबूर कर दिया। अंजली द्विवेदी द्वारा गाए गए सॉवरे-सॉवरे जब तू मेरे सिर पर रखे दे हाथ, नहीं होगी दिल की हार । जब से मिला है तेरा साथ, मस्ती में झूमते है, नामक भजन ने सभी को मंत्र-मुग्ध कर दिया। इसी प्रकार राजू मेहरा ने अपने भजन श्याम की दीवानी बन जाऊंगी व चढ़-चढ़ गई श्याम नाम की मस्ती नामक भजनों पर भक्तों ने जमकर ठुमके लगाए। इस दौरान बद्रीनाथ धाम के पवन गोदियाल द्वारा प्रस्तुत की झांकी ने दर्शकों को मंत्र-मुग्ध कर दिया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: