Friday, April 7, 2017

निजी स्कूलों द्वारा कथित मनमानी फीस वसूली की जांच के लिए बने कमेटी



चण्डीगढ़,7 अप्रैल,2017(abtaknews.com ) स्वास्थ्य शिक्षा सहयोग संगठन के प्रदेश अध्यक्ष बृजपाल परमार ने प्रदेश सरकार से
स्ववित्त पोषित  निजी स्कूलों द्वारा कथित मनमानी फीस वसूली की जांच के लिए पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट के सेवानिवृत न्यायाधीश की अध्यक्षता में कमेटी गठित करने की मांग लेकर शिक्षा मंत्री प्रो.रामबिलास शर्मा व मुख्यमंत्री मनोहरलाल को पत्र लिखा है। यहां जारी बयान में श्री परमार ने कहा कि हालांकि सरकार ने इस सम्बंध में जिला स्तर पर कमेटियां बनाई हैं जो कि एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट देंगी। लेकिन उन्हें नहीं लगता कि ये कमेटियां सही तरीके से इसकी जांच करेंगी। क्योंकि इससे पहले सरकार द्वारा
नियम 158 ए के तहत मंडल स्तर पर मंडला आयुक्त की अध्यक्षता में कमेटियों का गठन किया गया था। लेकिन शिकायत के बावजूद भी इन कमेटियों ने कोई कार्यवाही नहीं की। उन्होंने कहा कि अधिकतर निजी स्कूल राजनेताओं के हैं।जोकि अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर रहे हैं। परमार ने कहा कि निजी स्कूलों द्वारा मनमाने तरीके से फीस बढ़ौतरी की जा रही है। कुछ स्कूल संचालक नियमों के विरूद्ध अपनी तरफ से जुराब-जूते, कॉपी उपलब्ध करवाने व ट्रांसपोर्ट के नाम पर फीस आदि में बढ़ौतरी कर चुके हैं। जिससे अभिभावकों की जेब पर अतिरिक्त बोझ पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि जब अभिभावक व संगठन के सदस्य इन निजी स्कूल संचालकों से शिकायत करते हैं और सम्बंधित विभाग के अधिकारियों तक बात पहुंचाते हैं तो ये निजी स्कूल संचालक उल्टा संगठन
व अभिभावकों पर ही बेवजह के आरोप लगाना शुरू कर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं। संगठन के सदस्य जे.पी. कौशिक का कहना है कि संगठन इन स्कूल संचालकों की धमकी से डरने वाला नहीं है और तथ्यों के आधार पर ही कानूनी कार्यवाही
कर रहे हैं। 10 अप्रैल के बाद मनमानी करने वाले स्कूल के सामने धरना दिया जाएगा। नियमों को ताक पर रखकर जो स्कूल अभिभावकों के साथ लूट मचा रहे हैं जब तक उनकी लूट बंद नहीं होगी तब तक अन्य संगठनों को साथ लेकर संगठन की लड़ाई लारी रहेगी। इसके बाद हाईकोर्ट में कानूनी कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि  एक तरफ तो सरकार सबका साथ सबका विकास करने का नारा दे
रही है वहीं दूसरी ओर उनकी पार्टी के एक प्रकोष्ठ से जुड़े एक सफेदपोश नेता सरकार की छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रहे हैं जोकि पूरी तरह से गलत है। संगठन के सदस्य आगामी समय में ऐसे सफेदपोश नेता के खिलाफ पोल खोलने का काम करेगी।

loading...
SHARE THIS

0 comments: