Friday, April 28, 2017

बल्लभगढ़ और एनआईटी में गूंजा यतिराज तुम्हारी जय हो


फरीदाबाद(abtaknews.com)जगदगुरु भाष्यकार श्री रामानुज स्वामी जी की 1000वीं जयंती के उपलक्ष्य में आज फरीदाबाद के बल्लभगढ़ और एनआईटी तीन नंबर में विशाल शोभायात्राओं का आयोजन किया गया, जिसमें हजारों लोगों ने भागीदारी की। 
इन यात्राओं में रामानुज स्वामी की प्रशस्ति में यतिराज तुम्हारी जय हो की धुन पर भक्त जमकर नाचे। इस मौके पर फरीदाबाद की महापौर सुमन बाला व निगम पार्षद मनोज नासवा भी सम्मिलित हुए। उन्होंने कहा कि धार्मिक आयोजनों से समाज में समरसता आती है। उन्होंने कहा कि श्री सिद्धदाता आश्रम की कीर्ति आज देश दुनिया में फैल रही है और यहां आने वालों को कष्टों से मुक्ति मिलती है। 
इस शोभायात्रा में हजारों की संख्या में भक्तों ने भागीदारी की। गौरतलब है कि फरीदाबाद स्थित रामानुज संप्रदाय के तीर्थ क्षेत्र श्री सिद्धदाता आश्रम एवं श्री लक्ष्मीनारायण दिव्यधाम की ओर से श्री रामानुज स्वामी की 1000वीं जयंती के उपलक्ष्य में देश विदेश में शोभायात्राओं का आयोजन किया जा रहा है। जिनमें हजारों की संख्या में भक्तगण सम्मिलित हो रहे हैं। रामानुज स्वामी को शेषावतार माना जाता था और उनके द्वारा बढ़ाए संप्रदाय के तीर्थ क्षेत्र श्री सिद्धदाता आश्रम की कीर्ति आज दुनियाभर में फैल रही है। इस स्थान की स्थापना जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी सुदर्शनाचार्य जी महाराज ने की थी। जिसे आज अनंतश्री विभूषित इंद्रप्रस्थ एवं हरियाणा पीठाधीश्वर श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज संचालित कर रहे हैं। 


एनआईटी तीन नंबर में लखानी धर्मशाला से शुरू हुई समता शोभायात्रा एनआईटी दो व तीन नंबर की मुख्य मार्केट से होते हुए एनआईटी तीन नंबर स्थित लक्ष्मीनारायण मंदिर पर संपन्न हुई। इस दौरान डीसी तंवर, केडी शर्मा, पवन शर्मा, सतपाल शर्मा, प्रवेश सैनी, नितिन गोसाई, राजपाल, गुलशन आहूजा, भारत भूषण शर्मा आदि ने प्रमुख योगदान दिया।  वहीं बल्लभगढ़ में भी सैकड़ों महिला पुरुषों के साथ ढोल बाजे गाजे के साथ अहीर वाडा से राव कॉलोनी, भूदत्त कॉलोनी, रघुबीर कॉलोनी, सेक्टर दो, भाटिया कॉलोनी से अग्रसेन चौक होते हुए वापिस अहीर वाडा पर संपन्न हुई। जहां पर सभी ने भोजन प्रसाद प्राप्त किया। यहां आयोजन में मास्टर भूप सिंह, दीनदयाल, प्रेम नारायण, देवेंद्र वर्मा, ज्ञानेंद्र शर्मा आदि का प्रमुख योगदान रहा। आश्रम के भक्तों द्वारा दिल्ली के मंडावली, मोलडबंध एक्सटेंशन, नांगलोई, गौतम बुद्ध नगर के गांव रूस्तम पुर, उत्तर प्रदेश के हापुड में भी समता शोभायात्राएं निकाली गईं। जिनमें हजारों लोगों ने खूब रुचि से भागीदारी करते हुए रामानुज स्वामी की परिचय पत्रिकाएं बांटीं। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: