Sunday, April 23, 2017

पत्नी पीडितों ने पुरूष विरोधी कानूनों के दाहसंस्कार के बाद की तेरहवीं, गरीब व मजदूरों को कराया भोजन

agitation-against-women-act-in-faridabad

फरीदाबाद(abtaknews.com) 23 अप्रैल,2017 ; विगत 9 अप्रैल को फरीदाबाद बीके चौक पर पत्नियों से पीडित पतियों द्वारा निकाली गई पुरूष विरोधी कानूनों की शवयात्रा के बाद किये गये दाह संस्कार के 13 दिन गुजर जाने के बाद आज फरीदाबाद के टाउन पार्क में 13वीं मनाई गई, पत्नियों से पीडित पतियों ने पार्क में गरीब और मजूदर व्यक्तियों को भोजन करवाया। खीर पूरी की दावत पीडित पतियों ने अपनी अपनी पत्नियों से परेशान होकर दी और कहा कि देश में पुरूष विरोधी कानून में संसोधन किया जाये। पीडित पति आने वाली 29 अप्रैल को दिल्ली जंतर मंतर पर  विशाल धरना प्रदर्शन करेंगे। 
फरीदाबाद बीके चौक पर करीब दो दर्जन से ज्यादा पत्नियों से पीडित पतियों ने विगत 9 अप्रैल को महिलाओं के लिये बनाये गये कानूनों को महिलाओं द्वारा दुरूप्रयोग करने का अरोप लगाते हुए पुरूष विरोधी कानूनों का दाह संस्कार किया था और उसके बाद मुंडन भी करवाया था, उसी कडी में आज हिंदु रीतिरिवाज के चलते 13 दिन बाद फरीदाबाद के टाउन पार्क में 13वीं मनाई गई, जिसमें पीडितों ने गरीब व मजूदर व्यक्तियों को भोजन करवाया, भोजन में पीडितों ने लोगों को खीर पूरी की दावत दी। 
इस बारे में जब पीडित पतियों से बात की गई तो नरेश मेंहदीरत्ता ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि महिलायें अपने द्वारा बनाये गये कानूनों का दुरूप्रयोग कर रही है, महिलाओं ने बहु गैंग बना लिया है, वो चाहते हैं अगर कानून बहुओं के लिये है बहन बेटियों के लिये क्यों नहीं हैं जिसके विरोध में उन्होंने पुरूष विरोधी कानूनों की शव यात्रा निकाली थी जिसकी 13वीं आज की गई है । 

वहीं पीडित गजाधर ने बताया कि वह अपनी पत्नी से पीडित है इसलिये साईकिल यात्रा करते हुए पूर दिल्ली एनसीआर में लोगों को जागरूक कर रहा है और पुरूष विरोधी कानूनों में संसोधन करने की मांग कर रहा है। जिसके लिये 29 अप्रैल को दिल्ली जंतर मंतर पर पत्नी पीडित पतियों का बहुत बडा प्रदर्शन होने जा रहा है जिसमें हजरों पीडित भाग लेंगे। राजेश ने बताया कि इन लोगों द्वारा उठाई जा रही मांगें सही है कानून में संसोधन होना चाहिये।


loading...
SHARE THIS

0 comments: