Sunday, April 23, 2017

दो दिवसीय डायबिटीज(शुगर) से मुक्ति शिविर का समापन


Two-Days-Diabetes-Awareness-Seminar-Eicher-School-Faridabad

फरीदाबाद(abtaknews.com)प्रजापिता ब्रहाकुमारीज ईश्वरीय विश्वविद्यालय राजयोग मेडिटेशन सेंटर सेक्टर-46 द्वारा आयोजित दो दिवसीय डायबिटीज(शुगर) से मुक्ति शिविर अलविदा डायबिटीज का आज समापन हो गया। शिविर के आखिरी दिन शिविर स्थल आयशर स्कूल सेक्टर-46 के सभागार में भारी संख्या में लोगों ने अपनी उपस्थित दर्ज कराई और डायबिटीज से संबधित सवाल जवाब पूछे।  इस मौके पर कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉ. श्रीमंत कुमार डायबिटीज विशेषज्ञ गलोबल अस्पताल बह्राकुमारीज मॉऊट आबू ने लोगों की डायबिटीज को लेकर अधूरी जानकारी को अपडेट किया। उन्होनें बताया कि डायबिटीज वाकई में एक गंभीर समस्या है लेकिन इस समस्या का समाधान राजयोग मेडिटेशन में छुपा है। उन्होनें बताया कि राजयोग मेडीटेशन से ना केवल डायबिटीज का ईलाज संभव है ब्लकि कई असाध्य रोगों के लिए भी यह रामबाण औषधी है।
Two-Days-Diabetes-Awareness-Seminar-Eicher-School-Faridabad

डॉ. श्रीमंत कुमार ने बताया कि पूरे भारतवर्ष में वे लगभग 200 से अधिक डायबिटीज शिविर करा चुके है जिसमें भाग लेने वाले लोगों को सुख की अनुभूति हुई है। उन्होनें बताया कि इस शिविर में उमड़ी लोगों की भीड़ यह दर्शाती है कि लोग अब राजयोग मेडीटेशन को लेकर जागरूक हो गए है और इसे अपने जीवन का महत्वूर्ण हिस्सा बना चुके है। इस मौके पर राज सिंह बैंसला सेक्टर-46 आरडब्लूए प्रधान ने शिविर को आयोजित करने वाले प्रजापिता ब्रहाकुमारीज ईश्वरीय विश्वविद्यालय राजयोग मेडिटेशन सेंटर की बहनों का कोटि कोटि आभार प्रकट करते हुए कहा कि इस डायबिटीज(शुगर) से मुक्ति शिविर को लगाकर उन्होनें सेक्टर-46,सेक्टर-21सी और मेवलामहाराजपुर में रहने वाले  लोगों पर उपकार किया है। उन्होनें कहा कि इस शिविर से लोगों को बहुत महत्वपूर्ण जानकारियां मिली है जिसके बलबूते लोग अपने जीवन को खुशहाल बना सकते है। कार्यक्रम के अंत में बहन मधु ने डॉ. श्रीमंत कुमार, और  राज सिंह बैंसला  को स्मृति चिन्ह्र भेंट कर उन्हें सम्मानित किया तथा कार्यक्रम में भाग लेने वाले लोगों को प्रसाद वितरित किया गया। इस मौके पर ब्रहाकुमारी मधु दीदी, नीरू बहन,पूनम,रमेश भाई,मानसी,रूपाली श्रीवास्तव,राधा बहन,वीना जैन इत्यादि लोग उपस्थित थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: