Wednesday, April 26, 2017

पुलिस की मिलीभगत से पप्पी का फ़ार्म हॉउस तुड़वाने वाली क्रिकेटर सहित कई पुलिस अधिकारियों पर हाईकोर्ट का हथौड़ा

फरीदाबाद 26 अप्रैल(abtaknews.com): इसी महीने की 14 तारीख को फरीदाबाद पुलिस ने एक पूर्व क्रिकेटर अंजुम चोपड़ा की सह पर गांव अनंगपुर स्थित एक फ़ार्म हॉउस पर जबरजस्त कहर बरसवाया था और फार्म  हाउस को पूरी तरह तुड़वा डाला था | अब अंजुम चोपड़ा सहित कई पुलिस अधिकारीयों पर हाईकोर्ट का हथौड़ा चल सकता है |डीजीपी हरियाणा सहित फरीदाबाद के कई बड़े पुलिस वालों को पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने तलब कर जबाब माँगा है कि आखिर कोर्ट स्टे के बाद इस फ़ार्म हॉउस को क्यू तुड़वाया गया | जिन पुलिस  अधिकारियों को हाईकोर्ट तलब किया गया है उनमे प्रदेश के पुलिस महानिदेशक केपी सिंह, फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर हनीफ कुरेशी, एसीपी एनआईटी शाकिर हुसैन, सूरजकुंड थाना प्रभारी, ओमवीर सब इंस्पेक्टर मांगर, सुरेंदर सब इंस्पेक्टर ग्रीन फील्ड, राम मेहर सब इंस्पेक्टर सेक्टर 46 और अंजुम चोपड़ा पुत्री कृष्णबल चोपड़ा, निरवान चोपड़ा पुत्र कृष्णबल चोपड़ा, कृष्णबल चोपड़ा पुत्र सूरजबाल चोपड़ा और सीबीआई ज्वाइंट डायरेक्टर चंडीगढ़ शामिल हैं | इन सभी को मई को हाईकोर्ट में जबाब के लिए बुलाया गया है | 

मालुम हो कि भाजपा नेता प्रेमकृष्ण आर्य उर्फ़ पप्पी ने पूर्व महिला क्रिकेटर अंजुम चोपड़ा पर पहले आरोप लगाया था कि वो कुछ बड़े राजनेताओं के साथ मिलकर उनका फ़ार्म हाउस हड़पना चाहती हैं। 14 अप्रैल को अंजुम चोपड़ा ने भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर उनका फार्म हॉउस तुड़वा दिया था और उल्टे भाजपा नेता पप्पी पर उनके पिता ने मामला भी दर्ज करवा दिया | पप्पी का कहना है कि अंजुम चोपड़ा ने अपना अपना प्रभाव दिखाने हुए पुलिस से मिलकर उनका फ़ार्म तुड़वा दिया जिनमे पुलिस ने भी क्रिकेटर अंजुम चोपड़ा का साथ दिया | उन्होंने कहा कि कोर्ट के स्टे के बावजूद उनका फ़ार्म हाउस तोडा गया | उन्हें किसी प्रकार का नोटिस भी जारी नहीं किया गया था | पप्पी ने कहा पुलिस ने कोर्ट का स्टे आर्डर भी देखना उचित नहीं समझा और भारी पुलिस बल के साथ प्राइवेट जीसीबी मशीन ले जाकर उनका फ़ार्म हाउस पूरी तरह तुड़वा दिया गया |

पप्पी का आरोप है कि एसीपी शाकिर हुसैन और तहसीलदार मनमोहन ने उनका फ़ार्म जबरन तुड़वाया था  और इस कार्यवाही के खिलाफ वो कोर्ट गए  जिसके बाद कोर्ट ने इसी पुलिसवालों और चोपड़ा परिवार को तलब  किया है | पप्पी ने बताया कि  मेरे फ़ार्म हाउस में मेरे स्वर्गीय पिता की समाधि थी जिसे अंजुम चोपड़ा ने एसीपी शाकिर हुसैन और अन्य पुलिस अधिकारीयों से मिलकर  जबरन तुड़वा दिया | पप्पी ने कहा कि  पूर्व क्रिकेटर के पिता कृष्ण बल चोपड़ा ने अनंगपुर में ही वन विभाग की जमीन पर अवैध महल बना लिया है जहाँ एक ईंट तक लगाने पर रोक है वहाँ इन्होने बड़े बड़े अवैध निर्माण कर लिए हैं लेकिन चोपड़ा का अवैध निर्माण किसी भी अधिकारी को नहीं दिखाई देता है, अधिकारी जानबूझकर उस निर्माण पर आँख इसलिए बंद कर लेते हैं क्यू कि वो अवैध निर्माण पूर्व क्रिकेटर अंजुम चोपड़ा के पिता का है और अंजुम चोपड़ा पूर्व क्रिकेटर है जिसकी अच्छी जान पहचान है जिसका उन्होंने फायदा उठाया और मेरा फ़ार्म हाउस तुड़वा दिया | 

पप्पी ने बताया कि 2011 में उनके पिताजी ने कृषि योग्य पंद्रह सौ गज जमीन अनंगपुर में ली थी। ये जमीन सड़क से कई फ़ीट गहरी थी इसलिए इसमें कई लाख रूपये लगे मिट्टी से सड़क के बराबर समतल करवाया और उसके बाद यहाँ बाउंड्री बनवाई गयी लेकिन इसके पहले पूर्व क्रिकेटर के पिता कृष्ण बल चोपड़ा  जिनकी पास में ही पहाड़ पर जमीन है ये  मामला फरीदाबाद कोर्ट में मोनिका जांगड़ा की अदालत में विचाराधीन है जिसका स्टे पप्पी के पक्ष में हुआ है। उन्होंने कहा कि फ़ार्म हाउस की बाउंड्री हो रही थी तब पूर्व क्रिकेटर के पिता  कृष्ण बल चोपड़ा मौके पर मौजूद थे उन्होंने अपनी जमीन के निशान लगवाये थे वहां पिलर खड़े किये थे और मैंने उनकी एक इंच भी जमीन न छूते हुए अपनी जमीन पर बाउंड्री करवाया था लेकिन शुक्रवार सुबह अंजुम चोपड़ा की मिली भगत से पुलिस ने जबरन उसे तुड़वा दिया | अब इस मामले में कोर्ट सख्त  हो गया है और इन पुलिस अधिकारियों से पूंछा है कि किसकी बिना किसी परमीशन या आदेश के फ़ार्म हॉउस क्यू तुड़वाया गया और जब कोर्ट का इस पर स्टे भी था | सभी को चंडीगढ़ हाईकोर्ट बुलाया गया है | भाजपा नेता पप्पी का कहना है कि पूरे मामले की जांच सीबीआई से करवाई जाए या इसलिए जांच के लिए SIT का गठन हो | पप्पी की मांग है कि उनका फ़ार्म तुड़वाने वाले सभी पुलिस अधिकारी सस्पेंड किये जाएँ | पप्पी ने कहा है कि क्रिकेटर की लाख जान पहचान हो लेकिन मुझे माननीय कोर्ट भरोषा है,  

loading...
SHARE THIS

0 comments: