Tuesday, October 11, 2016

4 बजे के बाद मूर्ति विसर्जन पर ममता बनर्जी सरकार द्वारा रोक की आलोचना



नई दिल्ली(abtaknews.com ): राष्ट्रवादी शिवसेना के अध्यक्ष एवं यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट के अंर्तराष्ट्रीय महासचिव श्री जय भगवान गोयल ने बंगाल की ममता बनर्जी सरकार द्वारा मुस्लिम तुष्टिकरण की सीमा लांघ कर दशहरा के दिन सायं 4 बजे के बाद मूर्ति विसर्जन पर रोक लगाने के निर्णय की कड़ी भत्र्सना की है। 

मुहर्रम के अवसर पर मुस्लमानों द्वारा ताजिये निकालने की आड़ में ऐसा निर्णय लेने पर अपनी तीव्र प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए श्री गोयल ने कहा कि बंगाल में दुर्गा पूजा का विशेष महत्व है। मुस्लमानों द्वारा ताजिये निकालने के कारण मूर्ति विसर्जन पर रोक लगाना कहीं भी न्यायसंगत नहीं। उन्होंने कहा हर अवसर पर हिन्दुओं के त्यौहारों-पर्वो पर अंकुश लगाने की ही सरकार को क्यों सूझती है।
श्री गोयल ने बंगाल हाईकोर्ट द्वारा इस सन्दर्भ में राज्य सरकार को कढ़ी फटकार लगाने पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि मुस्लिम तुष्टिकरण के दृष्टिगत लिए गए ऐसे निर्णयों से असहिष्णुता पैदा होती है। बहुसंख्यकों की कीमत पर अल्पसंख्यक वर्ग को खुश करना और पुचकारने का यह थोथा प्रयास असहनीय है।

श्री गोयल ने कहा कि मात्र तुगलकी फरमान जारी करके आदेश लाद देने से जिम्मेवारी से नहीं बचा जा सकता। यदि राज्य सरकार कानून व्यवस्था बिगड़ने का डर दिखाकर ऐसे निर्णय लेती है तो उसे सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नही। एक धर्म विशेष को खुश करने के प्रयासों के दूरगामी परिणाम ममता बनर्जी सरकार को भुगतने पड़ सकते हैं। श्री गोयल ने केन्द्र सरकार से राज्य सरकारों के ऐसे निर्णयों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह भी किया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: