Sunday, October 16, 2016

मशाल जलाकर मनाया गया "परिवर्तन दिवस"



फरीदाबाद (abtaknews.com )मेट्रो गार्डन में चल रहे अलविदा तनाव शिविर में ब्रह्माकुमारी पूनम ने शुरुआत करते हुए कहा  कि जो संस्कार हमारी सफलता में रूकावट डालता उसे आज सदा के लिए विदाई दे दें. हमारी वाणी में मिठास होनी चाहिए ,हमें ऐसे बोल नहीं बोलने चाहिए जो संबंधों में तनाव पैदा हो.किसी भी घटना में हमारा दृष्टिकोण कल्याणकारी हो,यदि यह सोचेंगे कि जो होगा अच्छा होगा तो इस विचार से बुरा भी अच्छे में बदल जायेगा.हमें एक दूसरे के प्रति शुभ भावना रखनी चाहिए. घृणा,नफरत की भावना  स्वयं को दुःख देती है ,इसलिए सर्व के प्रति आत्मिक भाव रखें.अपनी समस्याओं को प्रभु अर्पण कर दें और जीवन के हर सुख के लिए परमात्मा का धन्यवाद करें. इस अवसर पर मशाल जलाकर और गीत बजाकर परिवर्तन दिवस मनाया गया,जिसमें सभी लोगों ने संकल्प किया कि वे अच्छे व सकारत्मक विचारों को अपनाकर जीवन को एक नई दिशा देंगे.

loading...
SHARE THIS

0 comments: