Tuesday, October 18, 2016

सात राज्यो में 19 नवंबर को होंगे लोकसभा एवम विधानसभा के उपचुनाव

  
असम, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश के संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों तथा असम, अरुणाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, पुडुचेरी, तमिलनाडु तथा त्रिपुरा की राज्य विधान सभाओं की रिक्त सीटों को भरने के लिए उप-चुनावों का कार्यक्रम 
निम्न राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेश की लोकसभा तथा विधानसभाओं की भरी जाने वाली रिक्त सीटों पर उप चुनाव होने हैं:       

क्र. स.
राज्य
संसदीय/विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र संख्या और नाम
1
असम
14-लखीमपुर
(संसदीय क्षेत्र)
2
असम
20-बैठालांग्सो (एसटी)
(विधान सभा क्षेत्र)
3
अरुणाचल प्रदेश
45 – हेयुलियांग (एसटी)
(विधान सभा क्षेत्र)
4
मध्य प्रदेश
12-शाहडोल (एसटी)
(संसदीय क्षेत्र)
5
मध्य प्रदेश
179-नेपानगर (एसटी)
(विधान सभा क्षेत्र)
6
पश्चिम बंगाल
1- कूचबिहार (एससी)
(संसदीय क्षेत्र)
7
पश्चिम बंगाल
30-तामलुक
(संसदीय क्षेत्र)
8
पश्चिम बंगाल
263-मोनटेश्वर
(विधान सभा क्षेत्र)
9
तमिलनाडु
195-त्रिरुपरांगकुंद्रम
(विधान सभा क्षेत्र)
10
त्रिपुरा
4-बरजाला
(विधान सभा क्षेत्र)
11
त्रिपुरा
25-खोवई
(विधान सभा क्षेत्र)
12
पुडुचेरी
17-नेल्लीथोपे
(विधान सभा क्षेत्र)

विभिन्न कारकों जैसे स्थानीय त्योहारों, मतदाता सूचियों, मौसम की स्थिति आदि को ध्यान में रखते हुए आयोग ने निम्न कार्यक्रम के अनुसार इन खाली सीटों को भरने के लिए उप चुनाव कराने का निर्णय लिया है  : -

चुनाव कार्यक्रम
तिथि
अधिसूचना जारी होने की तिथि
26.10.2016 (बुधवार)
नामांकन पत्र भरने की अंतिम तिथि
02.11.2016 (बुधवार)
नामांकन पत्रों की जांच की तिथि
03.11.2016 (बृहस्‍पतिवार)
नाम वापस लेने की तिथि
05.11.2016 (शनिवार)
मतदान की तिथि
19.11.2016 (शनिवार)
मतगणना की तिथि
22.11.2016 (मंगलवार)
चुनाव पूरा होने की तिथि                 
24.11.2016 (बृहस्‍पतिवार)

मतदाता सूची;-सभी राज्यों के लिए मतदाता सूची को 01.01.2016 के संदर्भ में अंतिम रूप से प्रकाशित किया गया है।

इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम);-आयोग ने इस उप-चुनावों के लिए सभी मतदान केंद्रों पर ईवीएम इस्तेमाल करने का निर्णय लिया है। पर्याप्त संख्या में ईवीएम उपलब्ध कराई गई हैं तथा यह सुनिश्चित करने के लिए सभी कदम उठाए गए हैं कि इन मशीनों से मतदान सुचारू रूप से संपन्न हो।

मतदाताओं की पहचान;-पूर्व प्रचलन के अनुरूप आयोग ने निर्णय लिया है कि उपरोक्त उप-चुनावों में मतदान के समय मतदाता की पहचान आवश्यक होगी। फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र (ईपीआईसी) पहचान का प्रमुख दस्तावेज होगा। लेकिन इस उपचुनाव में जिन महिला/पुरूष मतदाता के नाम मतदाता सूची में नहीं हैं उन्हें मताधिकार से वंचित होने से रोकने के लिए मतदान के समय मतदाता की पहचान संबंधी अतिरिक्त दस्तावेजों की अनुमति देने के बारे में अलग से ऩिर्देश जारी किए जाएंगे।

आदर्श आचार संहिता;-26 अप्रैल2012 को जारी आयोग के निर्देश पत्र संख्या 437/आईएनएसटी/2012/सीसीएंडबीई (कमीशन की वेबसाइट पर उपलब्ध) के अनुसार आंशिक परिवर्तन को छोड़ विधानसभा निर्वाचन के पूरे हिस्से या आंशिक हिस्से में तत्काल प्रभाव से आदर्श आचार संहिता लागू होगी। आदर्श आचार संहिता सभी उम्मीदवारोंराजनीतिक दलों तथा संबद्ध राज्य सरकारों पर लागू होगी। उप-चुनाव वाले राज्यों के उपरोक्त जिलों में यह आचार संहिता केंद्र सरकार पर भी लागू होगी।

loading...
SHARE THIS

0 comments: