Monday, October 17, 2016

सूरजकुंड मेले की तैयारी शुरू, अधिकारियो ने किया मौका मुआयना



चण्डीगढ़, 17 अक्तूबर(abtaknews.com )हरियाणा पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव डा० अभिलक्ष लिखी ने राज्य के पर्यटन परिसरों में दी जाने वाली सुविधाओं और ढांचागत सुविधाओं को अपग्रेड करने और सही रख-रखाव करने के दिशानिर्देश विभाग के अधिकारियों को दिए और कहा कि वे पर्यटन विभाग के मुनाफे की वृद्धि के विभिन्न कारगर कदम उठाएं और फरीदाबाद में आयोजित होने वाले सूरजकुंड अन्तर्राष्ट्रीय शिल्प मेले में आगंतुकों को बेहतर सुविधा मुहैया करवाएं ।   यह दिशानिर्देश उन्होंने आज फरीदाबाद में सूरजकुंड मेला परिसर का निरीक्षण करे के दौरान दिए। इस मौके पर उन्होंने मण्डल स्तर पर पर्यटन विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों की एक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता भी की।

पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव डा० अभिलक्ष लिखी ने बताया कि प्रत्येक वर्ष की भांति इस बार भी सूरजकुंड अन्तर्राष्ट्रीय शिल्प मेले के लिए भागीदार राष्ट्र और देश के एक राज्य को थीम स्टेट के रूप में चुने जाने की प्रक्रिया जारी है। डा० लिखी ने बताया कि अगले वर्ष 1 फरवरी, 2017 से 15 फरवरी, 2017 तक चलने वाले सूरजकुण्ड अन्तर्राष्ट्रीय शिल्प मेले के लिए विभिन्न अनुबंध और प्रायोजनों के सम्बन्ध में सम्भावनाएं तलाशी जा रही हैं।उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सम्बन्धित उपायुक्त से सम्पर्क कर सीएम विंडो पर आने वाली शिकायतों का तुरंत आधार पर निपटान करें और सभी न्यायालयों के मामलों और भूमि विवरण को समान रूप से देखें। उन्होंने लेखा, भूमि और न्यायालय मामलों, इंजीनियरिंग सैल से सम्बन्धित समस्याएं, परियोजनाओं और सीएम विंडो की शिकायतों पर भी चर्चा की।

हरियाणा में हाइवे पर्यटन को बढावा देने के मद्देनजर 43 पर्यटन परिसरों में 838 एयर कंडीशन्ड कमरे हैं, जहां पर पर्यटकों को सभी प्रकार की सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही हैं। हरियाणा पर्यटन राज्य में एमआईसीई (बैठकें, प्रोत्साहन, कन्वेंशन और प्रदर्शनियां) जैसी अवधारणा पर बल दे रहा है। वर्तमान में चार कन्वेंशन केन्द्र हैं, चार पोर्ता कैबिन और 52 कान्फ्रेंस, मल्टीपर्पस और बैंकुएट हाल राज्य के विभिन्न पर्यटन परिसरों में हैं।डा० लिखी ने कहा कि जिला झज्जर के बहादुरगढ़ स्थित गोरैया पर्यटन परिसर में सभी सुविधाओं के साथ बहुदेशीय हाल और पिपली के पैराकिट पर्यटन परिसर में सभी सुविधाओं के साथ बहुदेशीय हाल के 1 नवम्बर, 2016 से पहले उदघाटन करने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि इसके अलावा, स्वर्ण जयंती समारोह का लोगो हरियाणा पर्यटन के सभी प्रकाशनों में भी प्रयोग किया जाएगा।

अन्य नई योजनाओं के सम्बन्ध में उन्होंने बताया कि राज्य के होटल प्रबन्धन संस्थानों के विद्यार्थियों को वीवीआईपी कार्यक्रमों के दौरान प्रशिक्षण दिलाया जाएगा ताकि उनके कौशल में वृद्धि हो सके। इन सुविधाओं के लिए विद्यार्थियों हेतु इन कार्यक्रमों में जाने के लिए बसों की खरीद की जाएगी। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: