Sunday, October 9, 2016

नव चेतना ट्रस्ट ने दुर्गा अष्टमी के मौके पर 31 कन्याओं को लिया गोद


फरीदाबाद 9 अक्टूबर(abtaknews.com ) आज पूरा देश दुर्गा अष्टमी के पावन अवसर मां की पूजा कर रहा है एसे में उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने नव चेतना ट्रस्ट से साथ मिलकर एक बेहतरीन पहल की है । उन्होने नव चेतना ट्रस्ट द्वारा स्लम बस्ती में रहने वाली 31 कन्याओं को गोद लिया है। इन कन्याओं की पढाई से लेकर शादी तक का खर्च ट्रस्ट से जुड़े लोग उठाएंगे । इस मौके पर उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने भी दो कन्याओं को गोद लिया है ।

सेक्टर-14, मानव रचना स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की । कार्यक्रम में पहुंचे उद्योग मंत्री विपुल गोयल का नव चेतना ट्रस्ट के चेयरमैन और मानव रचना स्कूल के प्रेसिडेंट डॉ प्रशांत भल्ला, वाइस प्रेसिडेंट अमित भल्ला ने गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया ।

उद्योग मंत्री एवं नव चेतना ट्रस्ट के संरक्षक विपुल गोयल ने इस तरह की पहल करने पर नव चेतना ट्रस्ट के चेयरमैन डॉ प्रशांत भल्ला का धन्यवाद किया और कहा कि नवरात्रों में लोग मां को पूजते है नवरात्रों में वैसे भी कंजक जिमाने की परंपरा है, और आज फरीदाबाद में इसकी सार्थकता सिद्ध हुई है, इसके लिए एसे बच्चों को चिन्हित किया गया है जिनका परिवार उनहे पढ़ा नहीं सकता । ऐसे में दो बेटियों को गोद लेने की उद्योग मंत्री की पहल को स्थानीय लोग बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की मुहिम से भी जोडक़र देख रहे हैं। 

विपुल गोयल ने बताया कि बच्चों की सबसे बेहतर परवरिश करने वाले अभिवावकों को "पैरेंटस अवार्ड" से सम्मानित भी किया जाएगा। पत्रकारों से बातचीत करते हुए उद्योग एवं पर्यावरण मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि पर्यावरण को बचाने लिए प्रदेश में 2.5 करोड़ पौधे लाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि उजाड़ पड़े  नाहर सिंह स्टेडियम के विकास के लिए 48.5 करोड़ रूपए का प्रस्ताव सरकार को भेजा जा चुका है और जल्द ही वो पास हो जाएंगे । विपुल गोयल ने यह भी बताया कि नव चेतना ट्रस्ट स्लम बस्तियों के अंदर बने 26 सरकारी स्कूलों को अडोप्ट कर रहा है जिसके लिए कार्य शुऱू किया जा चुका है। एक साल के भीतर इन्हें गोद ले लिया जाएगा और उन स्कूलों में निजी स्कूलों की तर्ज पर सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी ।  

नव चेतना ट्रस्ट से जुड़े नरेंद्र गुप्ता, नवदीप चावला, एस के कपूर, डॉ राकेश कुमार गुप्ता, बीआर भाटिया, जेपी गुप्ता, एसके जैन, केसी लखानी, एचएस बांगा, नरेंद्र, राकेश मोहन अग्रवाल, सिद्धार्थ खुराना, शांति प्रकाश गुप्ता, एचके बत्रा और राजीव चावला द्वारा भी कन्याओं को गोद लिया गया ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: