Friday, October 14, 2016

हादसें के दोषी लोगों की गिरफ्तारी और कम्पनी के स्थानंतरण तक जारी रहेगा धरना


फरीदाबाद 14 अक्टूबर(abtaknews.com) फरीदाबाद के मुजसेर गांव के रिहायशी इलाके में अवैध रूप से चल रही कम्पनी और धर्म कांटों के कारण ट्राले की चपेट में आने हुई दो लोगों की मौत पर मुजेसर संघर्ष समिति ने कल से कम्पनी गेट पर धरना शुरू किया था। इस धरने को कांग्रेस, इनेलों नेताओं के अलावा दूसरे लोगों का भी समर्थन प्राप्त था। मुजेसर संघर्ष समिति के दबाव में आज निगम प्रशासन ने वहां चल रहे दो धर्म कांटों को जेसीबी की सहायता से हटा दिया। लेकिन संघर्ष समिति के लोगों का कहना है कि कम्पनी के स्थानांतरण होने और दोषी लोगों की गिरफ्तारी तक उनका संघर्ष जारी रहेगा। 

मुजेसर में कम्पनी के सामने धरने पर बैठे मुजसेर संघर्ष समिति के बेनर तले कांग्रेस और दूसरी पार्टियो के नेताओं ने जब मामलें में ढील बरतने और दुघर्टना के आरोपी लोगों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर सरकार के खिलाफ धरना शुरू किया तो प्रशासन अचानक नींद से जागा और आनन-फानन में वहां चल रहे दो धर्मकांटो को हटा दिया। लेकिन अभी तक उस कम्पनी को वहां से नहीं हटाया गया है कि जिसके कारण यहां ट्राले आने से दुघर्टनाएं होती है। ट्राले के नीचे दबकर दो लोगों की मौत हो गई थी। 
संघर्ष समिति के देवीलाल लाम्बा का कहना है कि प्रशासन ने धर्म कांटो को हटा दिया है, जो उनकी एकता की सफलता है। लेकिन अभी तक कम्पनी को नहीं स्थानांतरण किया गया और न ही आरोपी लोगों की गिरफ्तारी हो पाई है। उनका धरना इन मांगों को पूरा होने तक जारी रहेगा।

इनेलों नेता ललित बंसल का कहना है कि सरकार न तो हादसे से पहले जागती और न ही बाद में। बाद में केवल उस पर लीपापोती करने का प्रयास करती है। यहां ट्रकों व ट्रालो की आवाजाही से हादसे हो रहे है और सरकार व प्रशासन सोये हुए है।
वहीं कांग्रेस नेत्री और पूर्व सीपीएस शारदा राठौर का कहना है कि बीजेपी उधोगपति और पूंजीपतियों की सरकार है। सत्ताधारी पार्टी के नेता और मंत्री मस्त है और जनता वोट देकर पछता रही है। यहीं कारण है कि अभी तक यहां से उस कम्पनी को नहीं हटाया गया, जिसके कारण हादसें हो रहे है। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: