Monday, October 17, 2016

भाजपा सरकार ने राजनीतिक द्वेश के चलते सनातन धर्म पर प्रहार किया ;- महंत स्वरूप बिहारी शरण



फरीदाबाद, 17 अक्टूबर(abtaknews.com ) श्री सनातन धर्म महावीर दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महंत स्वरूप बिहारी शरण ने कहा कि प्रदेश की बीजेपी सरकार ने राजनीतिक द्वेश के चलते सनातन धर्म पर प्रहार किया है, जिसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके लिए जहां तक लड़ाई लडनी पडेगी लड़ेंगे। श्री महंत स्वरूप जी मार्कट नंबर एक स्थित सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर श्री सनातन धर्म महावीर दल में एनआईटी दशहरा मैदान में प्रशासन द्वारा दशहरा नहीं मनाए दिए जाने के मुद्दे पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। 
महंत जी ने कहा कि भाजपा सरकार राम मंदिर के मुद्दे पर सत्ता में आई है और अब राम के काम में विघ्न डाल रहे हैं। महंत स्वरूप बिहारी ने बताया कि सनातन धर्म महावीर दल की राश्टत्रीय कार्यकारिणी बैठक 23 अक्टूबर को अंबाला में होगी और उस बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के सामने भी इस मुद्दे को उठाएंगे। यदि वहां भी कोई सुनवाई नहीं हुई तो संत समाज के सामने इस बात को रखा जाएगा और संत समाज जो निर्णय देगा, उसके हिसाब से कार्रवाई की जाएगी। अगर सरकार ने फिर भी अधिकारियों पर कोई कार्रवाई नहीं की, जिन्होंने दहशरा की अनुमति होने के बावजूद भी पर्व नहीं मनाने दिया और चारों वेदों के ज्ञाता रावण के स्वरूपों को बड़ी बेअदबी के साथ कहीं ले जाकर फेंक दिया, उन पर सख्त कार्रवाई की जाए और जिन लोगों के इशारे पर यह सब हुआ है उन पर भी कड.ी कार्रवाई नहीं हुई तो आने वाले समय में श्री सनातन धर्म महावीर दल हिंदू संगठनों को साथ लेकर अपनी रणनीति तय करेगा। हो सकता है कि पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड तथा उत्तर प्रदेश में होने वाले चुनाव में अपने उम्मीदवार भी उतार सकता है या जहां जो पार्टी हिंदुओं के हितों के लिए आगे आएगी उसका समर्थन किया जाएगा। इसी सिलसिले में 16 अक्टूबर के राजस्थान के गंगा नगर में भी हिंदू संगठनों के साथ विचार विमर्श किया गया। जल्द ही उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश तथा उत्तर प्रदेश के हिंदू संगठनों से बातचीत की जाएगी।
सिद्धपीठ हनुमान मंदिर, मार्केट नंबर एक के प्रधान राजेश भाटिया ने कहा कि प्रशासन ने सीपीएस सीमा त्रिखा व केंद्रीय राज्यमंत्री कृश्णपाल गुर्जर के कहने पर रातों रात एक अन्य संगठन को दशहरा पर्व मनाने की इजाजत दे दी, जबकि वह संगठन पंजीकरण कार्यालय के मानकों को पूरा ही नहीं करता है। प्रशासन का यह कहना कि दशहरा पर्व पर रावण लगाने कि अनुमति कोई भी ले सकता है, जोकि हास्यापद है। जबकि सिद्धपीठ हनुमान मंदिर के पास सभी तरह की अनुमति थी और वह पिछले 66 साल से दशहरा पर्व का आयोजन करता आ रहा है, जबकि राज्य में किसी भी पार्टी का षासन रहा हो। इस कृत्य के विरोध में हम कोर्ट में भी जाएंगे और मंदिर प्रबंधन जल्द ही बीके चौक पर जिला प्रशासन, सीमा त्रिखा व कृश्णपाल गुर्जर का पुतला फूंक कर विरोध करेंगे।
इस मौके पर आप नेता धर्मवीर भडाना, ऑल इंडिया बन्नू बिरादरी के सरपरस्त सोमनाथ ग्रोवर, षक्ति सेवा दल के प्रधान मोहन लाल अरोडा सेवा समिति के महासचिव सुभाश नौनिहाल, मार्केट नंबर एक के प्रधान अजय नौनिहाल, 1ए आरडब्ल्यूए के प्रधान महेंद्र कपूर, जोगेंद्र झांब, जवाहर कॉलोनी मार्केट एसोसिएशन के प्रधान नीरज भाटिया, पूर्व पार्शद राजेश भाटिया, रमेश भाटिया सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: