Friday, October 7, 2016

पूजा से सहारा व सुब्रतो राय का कुछ भी लेना देना नहीं:- सौरभ बंद्धोपाध्याय






लखनऊ- (संदीप पाल-abtaknews.com) नवरात्रि के पावन पर्व के अवसर पर विगत 15 वर्षों की भांति इस बार भी सदभावना सांस्कृतिक समिति सहारा स्टेट जानकीपुरम लखनऊ के दुर्गा पूजा पंडाल द्वारा दिनांक 5 अक्टूबर 2016 से 11 अक्टूबर 2016 तक श्री श्री दुर्गा पूजा एवं रावण वध तथा दिनांक 15 अक्टूबर 2016 को श्री श्री लक्ष्मी पूजा का भव्य आयोजन किया जा रहा है। इस बार का पूजा पूरी तरह से भारतीय सेना को समर्पित है, तथा पूजा पंडाल अयोध्या के कनक भवन मंदिर की लिपिका है। दुर्गा पूजा के अवसर पर उदघाटन कार्यक्रम एवं प्रेसवार्ता अक्टूबर 6 शाम 5 बजें आयोजित की जायेगी। जबकि कार्यकम में मुख्य अतिथि श्री हैदर अजीज शैफी क्ल  ैचमंामत स्महपेसंजपअम ।ेेमउइसलए ळवअजण् व िॅमेज ठमदहंसण् होंगे।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि हैदर अजीज शैफी ने कहा कि ऐसा बहुत ही कम देखने को मिलता है कि दुर्गा पूजा देश के सैनिकों के नाम समर्पित हो। इससे यह साफ प्रतीत होता है कि देश के लोगों में अपने सैनिकों के लिए कितना सम्मान है। यह माता का आशीर्वाद है कि मुझे लखनऊ की दुर्गा पूजा देखने और पूजा पंडाल के उदघाटन का अवसर मिला।सदभावना सांस्कृतिक समिति के मुख्य संरक्षक व वरिष्ठ उपाध्यक्ष तृण मूल कांग्रेस उत्तर प्रदेश, सौरभ बंद्धोपाध्याय ने कहा कि इस बार दुर्गा पूजा पंडाल प्रदेश का सबसे बड़ा दुर्गा पूजा पंडाल है जिसकी लम्बाई 75 फिट और चौड़ाई 100 फिट व ऊंचाई 65 फिट रखी गई है, इसे बनाने में 45 लाख की लागत आई है। इसे कोलकता के कलाकारों ने बनाया है, जबकि इस दुर्गा पूजा की शुरूआत 1,87000 हजार रूपये से की थी। इस बार कार्यक्रम में ओपेन गरबा नाइज 5 अक्टूबर, माता की चौकी 6 अक्टूबर, कल्चरल इवनिंग 7 अक्टूबर, म्यूजिकल नाइट 8 अक्टूबर, लकी डा 9 अक्टूबर और कवि सम्मेलन का कार्यक्रम 10 अक्टूबर को आयोजित होगा।

श्री बंद्धोपाध्याय ने बताया कि कुछ लोगों द्वारा इस दुर्गा पूजा को सहारा की पूजा बताया जा रहा है और इसमें सहारा श्री सुब्रतो राय सहारा के सहयोग की बात कही जा रहा है, जो कि बिल्कुल गलत है इस पूजा से सहारा व सुब्रतो राय का कुछ भी लेना देना नहीं है और न ही इस पूजा का कोई राजनैतिक मतलब निकाला जाना चाहिए।
कार्यक्रम की शुरूआत 5 अक्टूबर को आनन्द मेला से हुई।

loading...
SHARE THIS

0 comments: