Sunday, October 16, 2016

विधायक ललित नागर ने धरने पर पहुंचकर किसानों को दिया अपना समर्थन



फरीदाबा-16 अक्टूबर(abtaknews.com ) एनएचआईए द्वारा यमुना पर बनाए जा रहे पुल से आसपास के गांवों के आवागमन के लिए कोई रास्ता न छोड़े जाने के विरोध में गांव फैजपुर खादर में किसान संघर्ष समिति के तत्वाधान में शुरू हुआ किसानों का धरना दूसरे दिन भी जारी रहा। आज धरने पर तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने पहुंचकर किसानों की मांग को जायज ठहराते हुए उन्हें अपना समर्थन देते हुए कहा कि इस मामले में एनएचआईए के अधिकारियों की मनमानी साफ उजागर होती है, जिससे किसान परेशान है। उन्होंने कहा कि यमुना से सटे कई गांवों के सैकडों किसान ऐसे है, जिनकी जमीनें यूपी में है, जिनकी देखरेख के लिए उन्हें वहां आना-जाना पड़ता है, अगर वह पुल से अपने खेतों के लिए जाने हेतु रास्ता मांग रहे है, तो वह उनका हक है और इस मामले में एनएचआईए अधिकारियों को किसानों से मिलकर इस समस्या का निराकरण करना चाहिए। धरने पर बैठे किसानों को संबोधित करते हुए विधायक ललित नागर ने कहा कि भाजपा सरकार में किसानों का सबसे ज्यादा शोषण हो रहा है, न तो उन्हें फसलों का उचित मूल्य दिया जा रहा है और न ही उन्हें जमीनों का उचित मुआवजा ही दिया जा रहा है अब सरकार ने किसानों को यूपी में स्थित उनके खेतों में जाने के लिए पुल पर रास्ता तक नहीं दे रही है, इससे साबित होता है कि भाजपा सरकार पूरी तरह से किसान विरोधी सरकार है। उन्होंने कहा कि किसानों के हकों की आवाज को किसी कीमत पर नहीं दबने दिया जाएगा और किसानों को उनका हक दिलाने के लिए वह पूरी तरह से कंधे से कंधा मिलाकर उनका सहयोग करेंगे और जरूरत पड़ी को कांग्रेस कार्यकर्ता सडक़ों पर उतरकर आंदोलन करने से भी गुरेज नहीं करेंगे। श्री नागर ने कहा कि किसानों की यह मांग पूरी तरह से जायज है और किसानों के इस संघर्ष में वह पूरी तरह से उनके साथ है, चाहे धरने की बात हो या फिर केंद्रीय मंत्री या मुख्यमंत्री के घेराव की बात है, वह हर तरह से इस मुद्दे को लेकर किसानों के साथ रहेंगे और जरूरत पड़ी तो आगामी विधानसभा सत्र में भी इस मुद्दे को जोरशोर से उठाएंगे। उन्होंने सरकार व प्रशासन को चेताते हुए कहा कि अगर इस मुद्दे पर जल्द ही किसानों के पक्ष में फैसला नहीं हुआ तो किसानों के साथ मिलकर स्वयं इस पुल के निर्माण का कार्य अनिश्चिितकाल के लिए रूकवा देंगे, जिनकी पूरी जिम्मेदारी प्रशासन व सरकार की होगी। गौरतलब है कि ईस्टर्न पेरीफेरल (कुंडली-गाजियाबाद-पलवल) हेतु के लिए फरीदाबाद की सीमा के गांव शाहजहांपुर के पर यमुना पर पुल बनाया जा रहा है। इस पुल से आने-जाने के लिए आसपास के गांवों के लोगों के लिए कोई भी रास्ता नहीं है। पिछले दिनों एनएचआईए के अधिकारियों ने किसानों को आश्वासन दिया था परंतु गत दिवस एनएचआईए के चेयरमैन चंद्रा राघव ने यमुना पुल पार करने के लिए ग्रामीणों के रास्ते बनाने से मना कर दिया था, जिसको लेकर गांव शाहजहांपुर, अरुआ, फैजपुर खादर आदि गांवों के ग्रामीणों ने अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया था। इस मौके पर रघुराज सरपंच, सुभाष सरपंच, नानक चेयरमैन, नाहरसिंह सरपंच, तारा सरपंच, इंदरजीत नंबरदार, चरण नंबरदार, धर्मवीर सरपंच, ओमप्रकाश कैप्टेन, विक्रम वकील, भामरी सरपंच, राजू सरपंच, ओमी चेयरमैन, देवेंद्र सरपंच, अमरसिंह सरपंच, सूंदर सरपंच, अशोक सरपंच, राकेश सरपंच, हरकिशन सरपंच, वीरेंद्र सरपंच, धर्म नंबरदार, भूरा चेयरमैन, विनय भाटी, तनुज भाटी सहित अनेकों किसान उपस्थित थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: