Sunday, October 9, 2016

सुभाष कालोनी में चक्रवती सम्राट सगर महाराज की जयंती मनाई


फरीदाबाद 9 सितंबर(abtaknews.com ) ओड समाज जन कल्याण सेवा समिति द्वारा बल्लभगढ़ की सुभाष कालोनी में चक्रवती सम्राट सगर महाराज की जयंती मनाई गई। इस मौके पर मुख्य अतिथि विधायक पंडित मूलचन्द शर्मा व ओड क्षत्रियों ने मिलकर चक्रवती सम्राट सगर की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। इस अवसर पर समिति के प्रधान सुभाष चन्द्र ओड,वरिष्ठ उप-प्रधान बाल किशन ओड,उप-प्रधान अजय राणा ओड,राजकुमार ओड,जयप्रकाश ओड,देवीराम ओड,रामकुमार ओड,महासचिव पंकज ओड,सचिव संजय ओड,कोषाध्यक्ष सुखपाल ओड,सहायक कोषाध्यक्ष मनोज ओड,संगठन सचिव नरेश ओड,चमन सिंह ओड,सतपाल ओड,संदीप ओड,उमेश ओड,मीडिया प्रचार प्रभारी भानू ओड,पवन ओड,मनोज ओड,जयपाल ओड,मुख्य सलाहकार हरीचन्द ओड,भूप सिंह ओड,लेखराज ओड,रघुराज ओड,नेपाल सिंह ओड व वेदराम ओड उपस्थित थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक पंडित मूलचन्द शर्मा ने कहा कि चक्रवती सम्राट सगर बलवान, न्यायप्रिय और धर्म रक्षक सम्राट थे। उन्होनें कहा कि सूर्यवंशी और चन्द्रवंश कुल की उत्पति बह्रा,मारीची,कश्यप,मनू के द्वारा हुई थी। उन्होनें कहा कि सम्राट सगर की जन्म इसी 20वीं पीढ़ी में हुआ था जिन्होनें सूर्यवंश को आगे बढ़ाया। इन्हीं की 60वीं पीढ़ी में राजा दशरथ और 61वीं पीढ़ी में भगवान राम का अवतार हुआ था। पंडित मूलचन्द शर्मा ने कहा कि ओड समाज ने कभी कुछ नहीं मांगा हमेशा अपने त्याग और तपस्या से प्राप्त किया है। उन्होनें कहा कि अगर सम्राट सगर गंगा को धरती पर नहीं लाते तो पूरा उत्तर भारत आज प्यासा होता। उन्होनें कहा कि हमारा जाति धर्म पूरा बल्लभगढ़ है जहां पूरे भारतवर्ष के लोग आकर बसे हुए है। इसलिए हमें अपने क्षेत्र के विकास जैसे पानी,बिजली,सडक़े और सीवरेज पर ध्यान देना है। पंडित मूलचन्द शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर की ईमानदारी के कारण ही आज देश व प्रदेश से भ्रष्ठ्राचार खत्म होने के कगार पर है। उन्होनें कहा कि ईमानदारी की इसी राह पर चलते हुए उन्होनें बेईमानो की लिस्ट निकलवाई है जो जनता के खून पसीने की कमाई को लूट रहे थे। ऐसे लोगों को शीघ्र ही जेलो में भिजवाया जाएगा। उन्होनें कहा कि वे अपने विधानसभा क्षेत्र के सभी वार्डो को सुन्दर बनाएगें ताकि लोग खुशहाल जीवन जी सकें।     

loading...
SHARE THIS

0 comments: