Monday, October 17, 2016

हरियाणा में हाईवे पर बनेगे ट्रॉमा सैंटर ;- मनोहर लाल


चंडीगढ़, 17 अक्तूबर(abtaknews.com ) हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में मुख्य मार्गों पर 50-60 किलोमीटर के अंतराल पर ट्रॉमा सैंटर बनाए जाएंगे ताकि किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने पर दुर्घटनाग्रस्त लोगों को चिकित्सा सहायता उपलब्ध हो सके। उन्होंने यह भी कहा कि वाहन चालान से जो भी आय होगी उसमें से आधी राशि पुलिस विभाग को विकास कार्यों के लिए उपलब्ध करवाई जाएगी। यह जानकारी आज उन्होंने करनाल में जीटी रोड़ स्थित नीलकंठ ढाबा के सामने नए पुलिस सहायता केन्द्र के उद्घाटन उपरांत उपस्थित विभिन्न गांवों के सरपंचो, पुलिस कर्मचारियों, पार्षदों, समाज-सेवी संगठनों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए दी। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि समुचे हरियाणा प्रदेश में दिल्ली-कुंडली बॉर्डर से लेकर अम्बाला तक 20 पुलिस सहायता केन्द्र बनाए गए हैं जिनका आज करनाल से शुभारंभ कर दिया गया है। आज से ही सभी केन्द्रों पर सेवा व्यवस्था लागू कर दी गई है। हर केन्द्र पर होंडा  की ओर से दी गई एक मोटरसाईल, एक एम्बुलैंस और 5 जवानों  की नफरी तैनात रहेगी ताकि किसी भी दुर्घटना के समय इन सहायता केन्द्रों से तुरंत सहायता उपलब्ध हो सके।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार प्रदेश की जनता को यातायात सुविधाओं के साथ-2 अन्य स्वास्थ्य सेवाएं भी उपलब्ध करवा रही है। उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस यातायात के नियमों की पालना को लेकर बेहतरीन कार्य कर रही है इस कार्य को और आगे बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में पुलिस सहायता केन्द्रो एंव आन लाईन चालानिंग सिस्टम शुरू होने से बहुत खुशी महसूस हो रही है। नियमो की पालना से चालान भी कम होंगे और दुर्घटनाएं भी कम होंगी। नियमों की उल्लंघना के चलते प्रथम बार चालान कटने पर 100 रूपये जुर्माने का प्रावधान है लेकिन यदि सम्बन्धित व्यक्ति दोबारा गलती करेगा तो उसे 400 रूपये तक का जुर्माना होगा और तीसरी गलती पर सम्बन्धित का लाईसेंस भी जब्त किया जा सकता है । ऑनलाईन व्यवस्था होने पर सम्बन्धित व्यक्ति के किए गए चालान का ब्यौरा भी प्राप्त किया जा सकेगा। ऑनलाईन चालान व्यवस्था होने से लोगों को लाईन में नहीं लगना पड़ेगा। कुछ देशों में तो चालान होने की दशा में खातों से हीे चालान की राशि काट ली जाती है। 

उन्होंने कहा कि यातायात के  नियमों का पालन करना बहुत जरूरी है। नियमों की छोटी सी लापरवाही कई बार बहुत बड़ा नुकसान कर देती है इसलिए सामाजिक और व्यक्तिगत सुरक्षा के लिए नियमों की पालना करना हम सब की सांझी जिम्मेदारी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि एक सर्वेक्षण के अनुसार दुर्घटना में मृत या घायल व्यक्ति ज्यादातर मामलों में परिवार का एक मात्र कमाने वाला मुखिया होता है जिस पर परिवार के अन्य सभी सदस्य निर्भर रहते है। इस कारणवश सडक़ दुर्घटनाओं से न केवल परिवार को मानसिक एंव भावनात्मक पीड़ा का सामना करना पडता है साथ ही परिवार और समाज के साथ -साथ देश को भी बड़ी हानि होती है। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश में सालाना लगभग 4000 लोग दुर्घटनाओं के कारण चले जाते हैं इतना ही नहीं 12 हजार से 15 हजार के बीच घायल हो जाते हैं, ऐसे में पीडि़त परिवारों को भारी नुकसान उठाना पड़ता है । उन्होंने यह भी कहा कि बेशक सम्बन्धित बीमा पोलिसी होती होगी लेकिन दुर्घटनाओं के कारण होने वाले जानी नुकसान की भरपाई नहीं हो सक ती ।

इससे पूर्व उन्होंने चालान काटने वाली ई-चालान मशीनों को भी देखा और ऑनलाईन व्यवस्था के बारे में विस्तार से जानकारी ली। इस मौके पर हरियाणा पुलिस के महानिदेशक डा. के.पी.सिंह  ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए पुलिस सहायता केन्द्रों और ई-चालान व्यवस्था की जानकारी देते हुए बताया कि भारत वर्ष में जनसंख्या एंव इसके फ लस्वरूप वाहनों की सख्यां में लगातार बढोतरी हो रही है। हरियाणा में प्रतिवर्ष 7.05 प्रतिशत की दर से वाहनो की संख्या में वृद्वि हो रही है। जिसके कारण सडक़ दुर्घटना में मरने वालों व घायल व्यक्तियों की संख्या में भी लगातार बढोतरी हो रही है। यह एक गम्भीर विषय है और हमेे सोचने पर मजबूर करता है। 

उन्होंने कहा कि हरियाणा से गुजरने वाले सभी राजमार्गों पर किसी अप्रिय घटना के घटने पर तुरन्त सहायता उपलब्ध करवाने के उद्वेश्य से पुलिस सहायता बुथ बनाए गए हैै। इन स्थानों पर 24 घण्टे पुलिस वाहन एंव पुलिस एम्बुलैंस उपलब्ध रहेगी।  इन राष्ट्रीय राजमार्गों व अन्य मार्गों पर  28 सकोरिपयन गाडी बतौर पी.सी.आर. व 525 वायुदूत मोटरसाईकिल बतौर राईडर गस्त के लिए  तैनात किए गए हैं।  इसी प्रकार  हरियाणा से गुजरने वाले क्षेत्र में के.एम.पी व के.जी.पी. एक्सप्रैस वे पर 6 पुलिस थाना, 5 पुलिस पोस्ट व 19 पुलिस सहायता बुथ शीघ्र ही बनाए जाने की योजना है  तथा 22 यातायात थानो में 43 एम्बुलैंस, 41 के्रन, 34 ईन्टरसैप्टर, 267 एल्कोसैंसर आदि उपलब्ध्य करवाए गए हैं।
उन्होंने बताया कि हरियाणा राज्य में निर्माण विभाग, बिजली विभाग, दूरसचंार विभाग, वन विभाग, परिवहन विभाग व पुलिस विभाग द्वारा दुर्घटना सम्भावित क्षेत्रों का सयुक्त निरीक्षण किया गया, जिसमें 1170 दुर्घटना सम्भावित क्षेत्रों का चयन  किया गया जिसमें सें कुल 1079 स्थानो पर काम पूर्ण हो चुका हैं। हरियाणा राज्य की सभी सडकों पर 1051 स्थानों में से 951 स्थानों पर स्पीड ब्रेकर बनवाए गए हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा राज्य में सडक़ सुरक्षा सगठन का गठन किया गया है जिसमें स्वेच्छित 2526 व्यक्तियों को शामिल किया गया है और इनकी सख्यां को ओर बढाने के लिए हरियाणा पुलिस प्रयासरत है।  यातायात एंव हाइवें कार्यालय के कन्ट्रोल रूम में हैल्पलाईन टोल फ्र ी दूरभाष न0 1073 स्थापित किया गया है जिससे दुर्घटना की स्थिति में सीधा सम्पर्क स्थापित होता है। उन्होंने यह भी बताया कि डब्ल्यूआरआई, होण्डा का भी इसमें सहयोग रहा है ।

अपनी अभिव्यक्ति में उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस द्वारा हरियाणा के सभी जिलो से गुजरने वाले मार्गो पर 4 रूटों से साईकिल रैली यात्रा हरियाणा स्वर्ण जयन्ती के उपलक्ष्य में निकाली जाएगी।  यह यात्रा  हरियाणा के सभी जिलो से होकर गुजरेगी। इस यात्रा का आगामी 1 दिसम्बर  से आरम्भ होकर 7 दिसम्बर को ं राज्य स्तरीय समारोह के साथ समापन की योजना है। इस यात्रा में बेटी बचाओ, बेटी पढाओं, नशा मुक्ति, स्वच्छ हरियाणा स्वच्छ भारत के साथ सडक सुरक्षा एक मुख्य संदेश होगा। इससे पूर्व ट्रैफिक पुलिस के डीआईजी शिवास कविराज ने सभी का आभार व्यक्त किया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने पुलिस सहायता केन्द्रों के  लिए तैनात किए गए मोटरसाईकिलों के काफिले को भी हरी झंडी देकर रवाना किया। 

इस मौके पर होण्डा के उप-प्रधान हरभजन सिंह ने भी होण्डा की गतिविधियों के बारे में जानकारी दी। इस मौके पर हैफेड के चेयरमैन एवं घरौंडा के विधायक हरविन्द्र कल्याण, मुख्यमंत्री के ओएसडी अमरेन्द्र सिंह,नगर निगम की मेयर रेनू बाला गुप्ता,आईपीएस अधिकारी राजबीर देशवाल, आरसी मिश्रा, नवदीप सिंह विर्क,आईपीएस सुमन मंजरी,केके संधू, सिमरद्वीप सिंह, डीसी मंदीप सिंह बराड़, एसपी पंकज नैन , एडीसी डा० प्रियंका सोनी,भगवान दास अग्गी,योगेन्द्र राणा,जगदेव पाढ़ा, प्रवीन लाठर,सुनील गोयल,अमृत लाल जोशी, समाज सेवक बृज गुप्ता,  मानव पुरी, कुलदीप शर्मा,अशोक भंडारी,मेहर सिंह कलामपुरा भी उपस्थित थे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: