Wednesday, October 5, 2016

फरीदाबाद में नॉन मैट्रिक पास चार फर्जी डॉक्टर गिरफ्तार




फरीदाबाद 5 अक्टूबर(abtaknews.com ) बुखारपुर गाँव में चार फर्जी डॉक्टरों को पुलिस ने किया गिरफ्तार। डेंगू और चिकनगुनिया की बिमारी की  होमियोपैथि दवाई पिलाने के  नाम पर कर रहे थे फर्जीवाड़ा। दस दस रुपये की काट रहे थे पर्ची, लगभग 4 हजार रुपये की काट चुके थे पर्ची । पुलिस ने सूचना के आधार पर किया चारो फर्जी डॉक्टरों को गिरफ्तार। चारों यू पी के है रहने वाले और आठवीं पास है फर्जी डॉक्टर। फिलहाल चारों को गिरफ्तार कर जांच में जुटी है पुलिस।

तेजी से फैल रहे चिकनगुनिया और डेंगू बिमारी का लाभ उठाने के लिए अब झोला छाप डाक्टरों के अलावा एनजीओं के नाम पर कुछ लोग होम्योपैथिक दवा के नाम पर कैम्प लगाकर लूट कर रहे है। दस-दस रूपए का कार्ड बनाकर दवा फ्री में देने के नाम पर ये लोग बुखारपुर में कैम्प लगाकर फर्जीवाडा कर रहे थे कि पुलिस के हत्थे चढ़ गए। सीएमओं और डाक्टरो के पैनल की शिकायत पर पुलिस ने चारों के खिलाफ धोखाधडी व होम्योपैथिक एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। संस्था का मालिक व इसका मास्टर माइंड अभी फरार है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। 

नान मैट्रिक पास चार डाक्टर एक उत्तरप्रदेश की एक संस्था के बेनर तले ये लोग गांवों में कैम्प लगाकर लोगों के दस-दस रूपए में पहले कार्ड बनाते और फिर कैम्प लगाकर चिकनगुनिया व डेंगू जैसी घातक बिमारी की दवा के नाम पर भोले भाले लोगों को ठगते थे। इससे पहले ये गांव दयालपुर में भी इसी तरह का कैम्प लगा चुके है। अब तक तीन सौ लोगों से चार हजार रूपए वसूल किए है। पकडे गए फर्जी डाक्टर का कहना है कि वे संस्था के लिए काम करते है और इस संस्था का मालिक संजय सिंह है, जो बुलंदशहर का रहने वाला है। यहां उन्होने केवल दो कैम्प लगाए है, जबकि उत्तर प्रदेश में इस तरह के अनेक कैम्प लगा चुके है। उन्होने न तो कोई कोर्स किया है और न ही अधिक पढ़े-लिखे है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: