Sunday, October 2, 2016

आतंकवादी घोषित नहीं होगा आतंकी मसूद अजहर;- चीन




मसूद अजहर पर आतंकी की मोहर बस लगने ही वाली थी कि चीन ने फिर गिरगिट की तरह रंग बदल लिया।चीन के वीटो पावर की मियाद सोमवार को पूरी हो रही थी और चीन ने आगे आपत्ति नहीं उठाई होती तो अजहर को आतंकवादी घोषित करने वाला प्रस्ताव पास हो गया होता। अब चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा कि भारत की ओर से मार्च, 2016 में 1267 समिति को सौंपे गये आवेदन पर तकनीकी रोक को पहले ही आगे बढ़ा दिया गया है। उन्होंने कहा कि भारत के आवेदन पर अब भी मतभेद हैं। तकनीकी रोक के आगे बढ़ जाने के बाद समिति को इस मामले पर विचार करने के लिए और संबंधित पक्षों को आगे विचार-विमर्श के लिए समय मिल जाएगा। 


31 मार्च,2016   को चीन ने पठानकोट हमले के मास्टरमाइंड रहे  मसूद अजहर को आतंकवादी  घोषित कराने के कदम पर रोक लगा दी थी। चीन सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्य होने चलते उसने अपनी वोटो पावर का इस्तेमाल किया।सुरक्षा परिषद के 15 देशों में चीन इकलौता देश रहा जिसने भारत के आवेदन का विरोध किया जबकि 14 अन्य देशों ने भारत की कोशिश का समर्थन किया। 1267 समिति की सूची में अजहर का नाम शामिल हो जाने से उसकी संपत्तियां जब्त हो जाएंगी और उसकी यात्रा पर भी रोक लग जाएगी। लेकिन चीन ने अपने स्वाभाव के अनुसार फिर से भारत के साथ विश्वासघात किया और आतंकी गतिविधियो में संलिप्त रहने वाले पाकिस्तान देश का साथ दिया है। 


loading...
SHARE THIS

0 comments: