Sunday, October 16, 2016

बसपा भाजपा की तरह उत्तर प्रदेश में झूठ की खेती करने लगी;-- सपा



लखनऊ (संदीप पाल-- abtaknews.com ) बहुजन समाज पार्टी भी भाजपा की तरह उत्तर प्रदेश में झूठ की खेती करने लगी है। अपने भविष्य को लेकर आशंकित बसपा अपने ही इतिहास को नकार रही है। बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर के मिशन को पूरी तरह से दिग्भ्रमित करने के बाद बहुजन के नेता अब उत्तर प्रदेश केा भरमाने में लगे है। सर्वविदित है कि बसपा ने तीन बार 1995, 1997 व 2002 में भाजपा एवं अन्य साम्प्रदायिक ताकतों के साथ मिलकर सरकार बनाया था। यदि उस समय मायावती भाजपा व साम्प्रदायिक शक्तियों के साथ न मिलीे होतीं तो आज उत्तर प्रदेश में भाजपा केवल नाममात्र की पार्टी होती। गोधरा कांड़ के पश्चात बहुजन समाज पार्टी की नेता गुजरात आरएसएस व भाजपा को जिताने गई थीं। श्री नसीमुद्दीन और  सतीश मिश्र, दोनांे तथ्यहीन बातें कर रहे हैं।  सतीश मिश्र बता रहे हैं कि 2500 दंगे हुए तो उनके ही दल के  नसीमुद्दीन के अनुसार लगभग चार सौ दंगें हुए। दोनों के द्वारा दी गयी जानकारी ही दोनों को गलत सिद्ध करती है। सच्चाई जानने के लिए बसपा नेतागण नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के आंकडे देख लें। सर्वाधिक दंगे तो बसपा के शासनकाल में हुए हैं। उत्तर प्रदेश में भाजपा को समाजवादी पार्टी ने ही हराया है और समाजवादी पार्टी ही आगे हराएगी। इससे बड़ा झूठ कुछ और नहीं हो सकता कि सपा का जन्म जनसंघ व भाजपा के सहयोग से हुआ है। समाजवादी पार्टी का गठन मुलायम सिंह यादव जी ने 1992 में “छोटेलोहिया“ जनेश्वर मिश्र, बाबू कपिल देव सिंह, राम शरण दास, ब्रज भूषण तिवारी, डा0 अशोक बाजपेयी सदृश प्रतिबद्ध समाजवादी व धुर साम्प्रदायिक विरोधी नेताओं को एकत्र कर किया था। पहले नसीमुद्दीन को देश-प्रदेश के इतिहास की जानकारी हासिल करनी चाहिए, फिर बोलना चाहिए। बसपा-भाजपा अघोषित गठबंधन लगातार झूठी व भ्रामक बातें कर उत्तर प्रदेश की लोकछवि न केवल मात्र अपितु दुनिया में धूमिल कर रहा है। दरअसल अखिलेश सरकार  की  लोक कल्याणकारी कार्यो से अब दोनों दलों के पास कुछ बोलने के लिए रहा नहीं इसलिए इतिहास व धर्म की बैसाखी लेने के लिए दोनों पार्टियां व पार्टियों के नेता मजबूर हैं।

loading...
SHARE THIS

0 comments: