Sunday, October 16, 2016

सडक हादसे में मदद करने पर युवक को डीसीपी ने किया सम्मानित


फरीदाबाद 15 अक्टूबर(abtaknews.com ) सडक़ हादसें का शिकार अगर कोई मदद के लिए सडक़ पर तडफ रहा हो तो उसे तुरन्त ईलाज मुहैया कराना अपराध नहीं, बल्कि पुण्य का कार्य है। ऐसा ही करने वाले एक शख्स को ट्रैफिक पुलिस के डीसीपी ने स्वयं अपने हाथों से प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया है। इस सख्स ने स्कूली वेन और डिजायर गाडी की टक्कर में गंभीर रूप से घायल स्कूली बच्चों को न केवल उठाकर अस्प्ताल पंहुचाया, बल्कि पुलिस को भी इसकी सूचना दी। धीरज नामक इस युवक की वजह से कई बच्चों की जान बच गई। इसी तरह होमगार्ड बिजेन्द्र को भी उसकी अच्छी सेवाओं के लिए सम्मानित किया गया, ताकि दूसरे पुलिस कर्मचारी भी उससे प्रोत्साहित हो सकें। 

पुलिस उपायुक्त यातायात पूरन चंद पवार जिन दो लोगों को सम्मानित कर रहे है, दरशल ये दोनो ही सम्मान के सही पात्र है। इसमें से एक ने बिना किसी देरी किए मानवता धर्म निभाते हुए सडक़ हादसें में घायल बच्चों को सरकारी मदद की बाट देखे बिना अस्पताल पंहुचाया और उनकी जान बचाई है, तो दूसरा होमगार्ड है, जो कम वेतन में भी पुलिस कर्मियों से अपनी ट्रैफिक की ड्यूटी सालों से निभा रहा है। बडखल जैसे व्यस्त चौक पर इस होम गार्ड की वजह से यातायात व्यवस्था सुचारू रहती है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: