Wednesday, October 5, 2016

चीनी सामान और पाक कलाकारों के खिलाफ युवा आगाज ने निकाली रैली


फरीदाबाद 5 अक्टूबर(abtaknews.com )पाक और उसका साथ दे रहे चाइना को सबक सिखाने के लिए आर्थिक रूप से कमजोर करने के उद्देश्य को लेकर युवा आगाज छात्र संगठन ने रैली निकालकर चाइना में निर्मित सामान का उपयोग न करने की अपील की है। साथ ही हिन्दुस्तान में कमाने और खाने वाले पाक कलाकारों द्वारा पाकिस्तान का गुनगाण करने पर उन्हे भारत से बहार निकालने की वकालत भी की है। छात्रों का मानना है कि दोनो देशों को सबक सिखाने के लिए केवल युद्ध ही एक मात्र विकल्प नहीं है। आर्थिक रूप से कमजोर करके भी पाक और उसका साथ दे रहे चाइना को सबक सिखाया जा सकता है। 

उरी हमले के बाद पूरे देश की  जनता की देश भक्ति एकसाथ जाग उठी है जिसको लेकर अब पूरे देश ने पाकिस्तान से संबंध रखने वाले लोगों का बहिष्कार करने की ठान ली है। जिसका असर आज फरीदाबाद में भी उस वक्त देखा गया जब युवा आगाज छात्र संगठन के कार्यकर्ताओं ने नेहरू कालेज से सेक्टर 16 की मार्किट होते हुए विरोध रैली निकाली। रैली में नेहरू कालेज के सैंकडों छात्र छात्राओं ने भाग लिया और पाकिस्तान से संबंध रखने वाले पाक कलाकारों और चाईना के सामाना को लेकर जमकर नारे लगाये। युवा आगाज के छात्र कार्यकर्ता अनुराग पांडेय की माने तो उरी हमले के बाद भारत में अपनी कला बेच रहे पाक कलाकारों से बस इतना पूछा गया था कि जो उरी में हुआ वो गलत था या सही मगर किसी भी पाक कलाकार ने इस बारे में कोई जबाब नहीं दिया इससे प्रतीत होता है कि हिन्दुस्तान का नमक खाने के बाद भी पाक कलाकार देशद्रोही है और ऐसे लोगों का भारत में रहना ठीक नहीं हैं इसलिये इन्हें भारत से भगा देना चाहिये।

वहीं छात्रा चंचल ने कहा कि चाईना पाकिस्तान का साथ दे रहा है इसलिये हम सभी भारतवासियों को चाईना को आर्थिक रूप से पस्त करना चाहिये, इसलिये छात्र ने सभी देशवासियों से अपील की है कि आने वाले दीपावली के पर्व पर कोई भी चाईना का सामान न खरीदे।युवा आगाज छात्र संगठन के संयोजक जसवंत पवार  की माने तो पाकिस्तान आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है और इस कार्य में चाइना उसका साथ दे रहा है। भारत विश्व में सबसे बड़ी मंडी है, चाइना का सामान बिकता है। ऐसे में उसे आर्थिक रूप से कमजोंर करने के लिए चाइना में निर्मित सामान का बहिस्कार किया जाना चाहिए। दीवाली नजदीक है और लोगों को चाहिए कि वे इस मौके पर चाइना का सामान न खरीदकर स्वदेशी सामान को अपनाएं। इसके साथ ही उहोंने पाक कलाकारों को भी आडे हाथों लिया, जो कमाते और खाते तो हिन्दूस्तान में है और गुनगान पाकिस्तान का करते है। उनका मानना है कि ऐसे कलाकारों को भारत में रहने का कोई हक नहीं है। 

इस विरोध में पूजा देशवाल, नेहा शर्मा, चंचल अत्री, अनुराग पांडे, विष्णु कुमार, संदीप चौहान, शुभम सिंह, पंकज, अजीत सिंह, दिनेश रावत, लालाराम, राहुल, निशांत, प्रवीन, संगीता, सोनियां, काजल, रूची, दीक्षा,निशा, हेमा, खुशबू, जावेद, कृष्ण जाखड, और विक्ररांत सहित सैंकडा विद्यार्थी मौजूद रहे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: