Monday, September 19, 2016

डीएवी शताब्दी काॅलेज फरीदाबाद में समारोह



फरीदाबाद(abtaknews.com) डीएवी शताब्दी काॅलेज फरीदाबाद के वाणिज्य विभाग (एसएफएस) द्वारा 17 सितम्बर,2016 को इंडक्षन कार्यक्रम’ का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन बी काॅम प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के स्वागत के लक्ष्य में किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन नये विद्यार्थियों को काॅलेज के साथ साथ विभाग के नियमों एवं प्रावधानों से अवगत कराने के लिए किया गया। इस कार्यक्रम के माध्यम से विभाग द्वारा विद्यार्थियों को उनके हितार्थ काॅलेज द्वारा चलाई गई नीतियों एवं कार्यक्रमों के विषय मेें जानकारी प्रदान की गयी।कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि महोदय श्री आर एस गाॅंधी जो पेशे  से वकील है और वर्तमान में क्राउन प्लाजा और क्राउन इन्टीरियर के मालिक है, और नब अंध विद्यालय के निर्देंषक है, के षुभ कर कमलों द्वारा किया गया। समारोह में श्री आरके चिलाना निर्देषक टाइम इक्यूपमेंट प्राइवेट लिमिटेड एवं श्री मुखेजा जी भी गेस्ट आॅफ आॅनर के रूप में आमन्त्रित थे।  काॅलेज प्राचार्य डा0 सतीष आहूजा और वाणिज्य विभाग (एस एफ एस) के समन्वयक श्री मुकेष बंसल के द्वारा मुख्य अतिथि महोदय कों पुष्प भेंट कर स्वगत किया गया। समारोह में प्राचार्य महोदय नेंविद्यार्थियों को अपने मूल्यवान षब्दों में उनके उज्जवल भविष्य के लिए आर्षीवाद दिया और उन्हें काॅलेज के समय का सदुपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया। श्री मुकेष बंसल ने विद्यार्थियों को काॅलेज परिसर में तथा कक्षा में अनुशासन बनाये रखने के लिए प्रेरित किया और साथ ही काॅलेज के एवं विभाग के नियमो से अवगत कराया। उन्होनें विद्यार्थियों को कक्षा में नियमितता एवं पूर्ण तत्परता के साथ अध्ययन करने हेतु अभिप्रेरित किया। इसी श्रंखला में मुख्य अतिथि महोदय ने अपने सुन्दर, सरल एवं सटीक शब्दों में अपने अनुभवों को विद्यार्थियों के साथ साझा किया और उनके उज्जवल भविष्य बनाने हेतु बहुमूल्य सुझाव दिये। विभागध्यक्ष श्री रवि कुमार एवं डीन श्रीमति ललिता ढींगरा ने सभी विद्यार्थियों  को अपने बहुमूल्य षब्दों एवं सुझावो से अवगत कराया। श्रीमती रेखा षर्मा एवं श्रीमती सुमन तनेजा ने सभी षिक्षको से विद्यार्थियों को परिचित कराया। कार्यक्रम में एक पी पी टी का भी आयोजन किया गया। समारोह में छात्रों द्वारा विभिन्न रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: