Thursday, September 22, 2016

मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव राकेश गुप्ता द्वारा पलवल में समीक्षा बैठक



पलवल,22 सितम्बर(अबतक न्यूज़ ) केन्द्र व प्रदेश सरकार के महत्वपूर्ण फलैगशिप कार्यक्रम व योजनाओं बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के संदर्भ में लिंगानुपात को सतुलित किए जाने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों व क्कहृष्ठञ्ज के अंतर्गत जिला क्षेत्रों में की जा रही कार्यवाहियों ,शिक्षा के स्तर को सुधारने,मुख्यमंत्री घोषणाओं, सी.एम. विण्डो, स्वच्छ भारत मिशन,म्हारा गांव-जगमग गांव आदि की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव राकेश गुप्ता ने आज यहां लघु सचिवालय स्थित कांफे्रंस हॉल में मण्डल के सभी उपायुक्तों, अतिरिक्त उपायुक्त, सिविल सर्जनों,शिक्षा अधिकारियों व अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

    बैठक में पलवल के उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा, फरीदाबाद के उपायुक्त चन्द्रशेखर,रेवाड़ी के डॉ. यश गर्ग, महेन्द्रगढ़ के उपायुक्त राजनारायण कौशिक, नूंह के उपायुक्त मनीराम शर्मा,फरीदाबाद नगर निगम की आयुक्त  सोनल गोयल, ओ.एस.डी. मुकुल कुमार व भूपेश्वर दयाल मौजूद थे । गुरूग्राम , महेन्द्रगढ़, रेवाड़ी, नूंह, फरीदाबाद व पलवल के अतिरिक्त उपायुक्त क्रमश: विनय,आर.एस.वर्मा,मनोज, नरेश नरवाल, जितेन्द्र दहिया व  अंजू चौधरी सहित अन्य विभागों के संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे। 

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के स्पष्ट दिशा निर्देश है कि अधिकारी अपने कत्र्तव्यों का निर्वहन पूरी ईमानदारी, कत्र्तव्य निष्ठा व पारदर्शिता से करें। उन्होंने कहा कि कार्याे में किसी भी प्रकार की कोताही सहन नही की जाएगी और कोताही बरतने वाले संबंधित अधिकारी व कर्मचारी के विरूद्ध कठोर अनुशासत्मक कार्यवाही की जाएगी। अत: अधिकारी सरकार की नीतियो,योजनाओं व जनता के कार्यों को प्राथमिकता देते हुए समयबद्ध रूप से पूर्ण करें।  मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव राकेश गुप्ता ने बताया कि आज  नूंह के बीडीपीओ अमित, गुडगांव के डीटीपी संजीव मान तथा फरीदाबाद नगर निगम के कार्य अधिकारी रमन शर्मा को सी.एम. विंडो में लापरवाही बरतने पर रही शिकायतों के आधार पर  निलंबित कर दिया है। उक्त अधिकारियों को सीएम विंडो पर आ रही शिकायतों की कार्यवाई में लापरवाही करने के आरोप में निलंबित किया गया है। उन्होने बताया कि इस संबंध में मुख्यमंत्री मनोहर लाल को जानकारी दी गई तथा उन्होने इनको निलंबित करने के आदेश जारी किए।

 उन्होंने लिंगानुपात को सुधारने, गर्भवती महिलाओं का रजिस्ट्रेशन व एनिमिया वाले केस चिन्हित कर उनकी देखभाल करने, दवाईयों, टीकाकरण, मृत्युदर, शिक्षा की गुणवत्ता में तेजी से सुधार लाने पर विशेष बल दिया। मुख्यमंत्री  के अतिरिक्त प्रधान सचिव राकेश गुप्ता ने सभी सिविल सर्जनों से कहा कि वे निर्भिक हो कर रेड करवाए और भू्रण हत्याओं को रोका जाए ताकि लिंगानुपात में सुधार हो सके। प्रदेश में अगस्त, 2011 में लिंगानुपात (1000:911)होने पर खुशी व्यक्त करते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा धरातलीय आधार पर किए जा रहे प्रयासों व कार्यों पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारियों को शिक्षा के स्तर में गुणवत्ता व सुधार लाने पर बल देते हुए कहा कि शिक्षा अधिकारी नियमित रूप से स्कूलों में जा कर निरीक्षण करें। उन्होंने स्कूली बच्चों को स्वच्छता के प्रति ज्यादा से ज्यादा पे्ररित करें।  सुशासन सहयोगी के लगाये जाने पर सकारात्मक प्रभाव आ रहे हैं । 

loading...
SHARE THIS

0 comments: