Friday, September 23, 2016

कलियुग में श्रीमद् देवी भागवत कथा का श्रवण करना फलकारी


फरीदाबाद 23 सितम्बर(abtaknews.com )संत श्री कृष्णा स्वामी जी ने कहा है कि कलियुग में श्रीमद् देवी भागवत कथा का श्रवण करना और कराना बहुत फलकारी होता है। इस कथा में 9 देवियों की महत्ता व महिमा की व इनकी विधि विधान से पूजा
अर्चना करने की महत्वपुर्ण जानकारी प्रदान होती है। उन्होंने आगे कहा कि नवरात्र के पर्व को उत्सव के रूप में मनाना चाहिये और देवी मां से अपने,देश व समाज के कल्याण की कामना करनी चाहिये। इन दिनों में संयम, अनुशासन,पवित्रता का पालन करना चाहिये और देवी मां से प्रार्थना करनी चाहिये कि वे आगे भी जीवन में इनका पालन करने की शक्ति प्रदान करे। श्री कृष्णा स्वामी ने यह अमृत वचन मानव सेवा समिति के तत्वाधान में आयोजित की जा रही श्रीमद् देवी भागवत कथा में प्रवचन करते हुये कहे। उन्होंने आगे कहा कि
बड़े पुण्य कर्मों से मानव जीवन प्राप्त होता है अत: इसका अधिक से अधिक सद्पयोग करना चाहिये व पुण्य कार्य करके जीवन को सफल बनाना चाहिये।
इस अवसर पर कथा व्यास ने मानव सेवा समिति द्वारा जरूरतमंद परिवारों के बच्चों के लिये चलाये जा रहे प्राथमिक विद्यालय के पुण्य कार्य की सराहना करते हुये शहर के सभी दानी सज्जन व समाजसेवियों से कहा कि वे इस पुण्य कार्य में समिति की हर संभव मदद करें और दिल खोलकर दान दें। कथा सुनने के लिये समाजसेवी सुधीर चैधरी सीए, राजकुमार अग्रवाल, पी. पी. पसरीजा, अशोक
गोयल, अरूण सर्राफ, बी. एस. जैन, रंगनाथ माहेश्वरी, डा. ललित अग्रवाल, विशेष रूप से उपस्थित हुये, इन्होंने स्कूल की सहायतार्थ आर्थिक सहयोग भी प्रदान किया। इन सभी अतिथियों का व समिति के कार्यकर्ता जितेन्द्र मेहता,ओ. पी. परमार, जे. पी. सिंघल, रमा सरना, कुसुम कौशिक को व्यास जी ने आशीर्वाद के रूप में स्मृति चिन्ह व सम्मान पट्टिका प्रदान की। यह कथा 26 सितम्बर तक सैक्टर 9 स्थित सनातन धर्म मंदिर में जारी रहेगी। 27 सितम्बर को यज्ञ हवन व भण्डारा आयोजन किया जायेगा।

loading...
SHARE THIS

0 comments: