Friday, September 23, 2016

मानव रचना डेंटल कॊलेज ने पहले इंटरकोलैगिएट आर्थोडॊन्टिक्स क्विज टोर्क का आयोजन




फरीदाबाद(abtaknews.com )नैक से ए ग्रेड मान्यता प्राप्त हरियाणा के पहले डेंटल कॊलेज ने पहले इंटरकोलैगिएट आर्थोडॊन्टिक्स क्विज टोर्क 2016 का आयोजन किया। मानव रचना डेंटल कॊलेज (एमआरडीसी) के द्वारा यह आयोजन मानव रचना कैंपस में किया गया। इस आयोजन में हिस्सा लेने के लिए देश के अलग-अलग हिस्सों से डेंटल कॊलेज हिस्सा लेने पहुंचे। कार्यक्रम का आयोजन आर्थोडॊनटिक्स एंड डैंटोफेशियल आर्थोपेडिक्स विभाग के द्वारा आर्थोडॊन्टिक्स स्टडी ग्रुप आफ दिल्ली (ओएसगोड) व इंडियन आर्थोडान्टिक सोसायटी के द्वारा किया गया। क्विज में एम्स के ओर्थोडॊन्टिक्स विभाग ने पहला स्थान, पीजीआई रोहतक ने पहले रनरअप व सुधा रस्तोगी ने दूसरा रनरअप का खिताब हासिल किया।
इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि एम्स के सेंटर फोर डेंटल एजुकेशन के चीफ डॊ. ओ.पी.खरबंदा मौजूद रहे। वहीं विशिष्ट अतिथ के रूप में जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के डीन रही व डिपार्टमेंट आफ आर्थोडान्टिक की प्रफैसर व एचओडी डॊ. रागिनी पहुंची। इनके साथ मानव रचना डेंटल कॊलेज के एडवाइजर मेजर जनरल पी.एन.अवस्थी, व एमआरडीसी के डायरेक्टर-प्रिंसिपल डॊ. अरुणदीप सिंह मौजूद रहे।

कार्यक्रम को प्रतिभागियों का बहुत अच्छा रिस्पांस मिला। देश के अलग-अलग हिस्सों से 35 डेंटल कॊलेजों ने कार्य़क्रम में हिस्सा लिया। इसमें मौलाना आजाद डेंटल कॊलेज, अरबिंदो डेंटल कॊलेज, जीडीसी डेंटल कॊलेज, पीजीआईएमईआर डेंटल कॊलेज, सुधा रस्तोगी डेंटल कॊलेजएम्स के ओर्थोडॊन्टिक्स विभागपीजीआई रोहतक, पीजीआईएमईआर चंडीगढ़, आर्मी डेंटल कॊलेज आदि ने हिस्सा लिया। इसके साथ अन्य राज्यों के भी कालेज शामिल रहे। इस मौके पर इंस्टीट्यूट आफ डेंटल स्टडीज एंड टेक्नोलॊजी मोदीनगर के वाइस प्रेसिडेंट व एचओडी डॊ. पुनीत बतरा ने द आर्ट आफ रीडिंग एंड लर्निंग डयूरिंग पोस्ट ग्रेजुएशन इन आर्थोडोन्टिक्स पर लेक्चर दिया। इस मौके पर निरंतर डेंटल एजुकेशन प्रोग्राम का भी आयोजन किया गया
कार्यक्रम में सभी का स्वागत करते हुए डायरेक्टर-प्रिंसिपल डॊ. अरुणदीप सिंह ने कहा कि कार्यक्रम को मिला रिस्पांस बताता है कि यह डेंटल क्षेत्र के स्टूडेंट्स के लिए कितना लाभकारी होगा। इसका आयोजन आर्थोडोन्टिक्स के क्षेत्र में हुए नए बदलाव व उससे जुड़ी हर जानकारी से अवगत कराना है।
कार्यक्रम में सभी को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि डॊ. ओ.पी.खरबंदा ने कहा कि ओर्थोंडोन्टिया एक बेहतर साइंस है, लेकिन इस क्षेत्र में ख्याति तभी प्राप्त होती है जब समाज के हर तबके को सेवाएं प्रदान की जाए और मरीजों के प्रति अच्छा रवैया अपनाए। उन्होंने ओर्थोडान्टिआ को सीएसआर के तहत गरीब तबके को लोगों के लिए काम करने का भी आग्रह किया।  

loading...
SHARE THIS

0 comments: