Tuesday, September 20, 2016

पाकिस्तान की हरकत पर भारत के पूर्व फौजियों का खून खौला



फरीदाबाद (abtaknews.com )- पाकिस्तान को ईंट का जवाब पत्थर से नहीं दिया गया तो ये नहीं मानेगा । ये कहना है रिटायर्ड कर्नल के ग्रुप का । दरअसल आज फरीदाबाद में रिटायर फौजियों ने कैंडल मार्च निकालकर पाकिस्तान के हमले में मारे गए फौजियों को श्रद्धांजलि दी और सरकार से ईंट का जवाब पत्थर से देने की अपील की।
हाथों में मोमबत्ती लिए नजर आ रहे ये लोग अपनी पूरी जिंदगी देश की सेवा करने के बाद फोज से रिटायर हुए हैं , लेकिन उरी मैं पाकिस्तानी आतंकवादियों द्वारा हमले और कई जवान फौजियों की मौत और कई के घायल होने के बाद यह फौजी बेहद गुस्से में हैं। सेक्टर 12 के टाउन पार्क में वार मेमोरियल पर इकट्ठे हुए और मोमबत्तियां जलाकर मारे गए शहीदों को श्रद्धांजलि दी। बेहद ही गुस्से में नजर आ रहे इन फौजियों ने कहा कि जिस तरह से धोखे से आतंकवादियों ने सोते हुए फौजियों पर हमला किया है यह बेहद ही शर्मनाक है और भारतीय सेना को ईट का जवाब पत्थर से देना चाहिए ।  उनके मुताबिक राजनीति के चलते पाकिस्तान का मामला कश्मीर का मामला हल नहीं हो पा रहा है । उन्होंने साफ तौर पर कहा उम्र ज्यादा होने के चलते सेना ने वेशक उन्हें रिटायर कर दिया है लेकिन अभी भी वह देश की रक्षा के लिए बॉर्डर पर जाने को और भारत माता पर जान लुटाने को तैयार है । उनके मुताबिक़ मानवाधिकार आयोग का कार्यालय जम्मू कश्मीर मैं खुलना चाहिए जिससे उन्हें जमीनी हकीकत का अहसास हो सके
कर्नल वीके गौर,विंग कमांडर हरी चंद मान, कर्नल ऋषिपाल रिटायर्ड फौजियों ने बताया कि पाकिस्तान को कितना भी समझा दिया जाए लेकिन वह मानने वाला नहीं है और इसलिए इस बार जो कायरतापूर्ण काम उसने किया है।  सरकार को और फौज को इसका जवाब  ईंट का जवाब पत्थर से देना चाहिए
रिटायर्ड कर्नल गोपाल सिंह - तीन बाते हमेशा ध्यान रखनी होंगी । पाकिस्तान हमेशा से ये करता रहा है । pok मैं सर्जिकल स्ट्राइक करके एक्शन लेना चाहिए । पाकिस्तान चाह रहा है की यूनाइटेड नेशन मैं जाकर कश्मीर का मुद्दा उठाये उसकी बात नहीं सुन्नी चाहिए क्योंकि कश्मीर हिन्दुस्तान का अंग है ।जब तक ईंट का जवाब पत्थर से नहीं दिया गया तो ये नहीं मानेगा ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: