Wednesday, September 21, 2016

सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक ने दिये छात्राओं को बैंकिंग प्रणाली के टिप्स


फरीदाबाद 21 सितंबर(abtaknews.com )सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक ने महिला महाविद्यालय में एक कार्यक्रम आयोजित करके छात्राओं को बैंक से जुडने व आस-पास के लोगों और परिवारजनों को खाता खोलने के लिए प्रेरित करने के लिए जागृत किया। वहीं छात्राओं को केन्द्र सरकार की ओर से चलाई जा रही विभिन्न प्रकार की योजनाओं की जानकारी दी गई। उन्हे बताया गया कि किसी भी योजना का लाभ बिना खाते खोले और उसे आधार कार्ड से लिंक कराये बिना नहीं मिल पायेगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस तरह देश में जीरो ंबैलेंस पर करोड़ो खाते खुलवाकर उन्हे आधार कार्ड से लिंक कराया है। ठीक उसी तर्ज पर अब बैंक छात्रों को भी खाता खोलने के लिए प्रेरित कर रहे है। बैंकों का मानना है कि आज के समय में किसी भी प्रकार सबसिडी लेने व पैंशन के लिए बैंक खाता जरूरी है और छात्राएं इस बारे में उन लोगों व अपने परिजनों को प्रेरित कर सकती है, जो अज्ञानतावश अभी तक अपना बैंक खाता नहीं खुलवा पाएं है। प्रधानमंत्री की ओर से जारी जीवन ज्योति सुरक्षा योजना और अटल पैंशन योजना के बारे में भी छात्राओं को जागरूक किया गया कि वे उनके परिचित इनका लाभ कैसे उठा सकते है।  सर्व हरियाणा बैंक के मुख्य प्रबंधक विरेन्द्र सिंह का कहना है कि छात्राओं को बैंक खाते खोलने व इसके लिए दूसरे लोगों को प्रेरित करने के अलावा केन्द्र सरकार की ओर से चलाई जा रही, योजनाओं की भी जानकारी दी गई है। उनका मानना है कि छात्राएं तो इसका लाभ उठायेंगी ही, साथ पांच लोगों को इसके लिए प्रेरित करेंगी। सभी जिला स्तर पर महिला महाविधालय में इस तरह के कार्यक्रम करने का उनकी योजना है। ताकि सभी लोग बैंक से जुड सके।
 वहीं छात्राओं का कहना है कि इससे उन्हे काफी जानकारी मिली है। जिन छात्राओं के परिजन अनपढ़ है, वे इसके लिए उन्हे बताकर बैंक खाते खुलवा सकती है और स्वयं भी वितिय समावेशन के तहत बैंक खातों के माध्यम से बचत कर सकती है। आज के समय में बैंक खाता बहुत जरूरी है।
इस मौके पर महिला महाविद्यालय की प्राधानाचार्या डा. संतोष कुमारी, हरियाणा सर्व ग्रामीण बैंक ओल्ड फरीदाबाद ब्रांच के चीफ मैनेजर वी एस चौहान, लौन सहायक मैनेजर आई एम शर्मा, चीफ मैनेजर महेश कुकरेजा, हरियाणा सर्व ग्रामीण बैंक के सहायक मैनेजर वी एस सरकार सहित सैंकडों छात्रायें मौजूद रहीं।


loading...
SHARE THIS

0 comments: