Thursday, September 15, 2016

मानव रचना ने टीसीजी डिजिटल सोल्यूशन्स के लिए एमओयू किया साइन



फरीदाबाद(abtaknews.com)मानव रचना ने साइबर सिक्योरिटी एजुकेशन का विस्तार करने के उद्देश्य से ट्रेनिंग सेंटर स्थापित करने की ओर कदम बढ़ाया है। इस दिशा में मानव रचना ने टीसीजी डिजिटल सोल्यूशन्स के साथ एमओयू साइन किया है। इसके तहत वर्च्युअल साइबर सिक्योरिटी प्लैटफार्म लैब की स्थापना मानव रचना में की जाएगी। इस लैब में मानव रचना में चल रहे अलग-अलग कोर्सों के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी। इसमें वल्नरेबिल्टी (24 घंटे), सर्टिफाइड प्रोफैशन्ल एथिकल हैकर (40 घंटे), सर्टिफाइड डिजिटल फॊरैंसिक्स एग्जामिनर (40 घंटे) व सर्टिफाइड वायरलैस सिक्योरिटी इंजीनयर (32 घंटे) शामिल है।

टीसीजी डिजिटल सोल्यूशन्स (पूर्व स्काइटैक सोल्यूश्न्स व टीसीजी सोफ्टवेयर) चैटर्जी ग्रुप की फ्लैग्शिप आईटी कंपनी है। टीसीजी माइल2 के संबंद्ध से एनएसए/सीएनएसएस मान्यता प्राप्त साइबर सिक्योरिटी ट्रेनिंग कोर्सिज चलाए जा रहे है। टीसीजी डिजिटल सोल्यूशन्स मानव रचना में साइबर सिक्योरिटी कैपिसिटी ब्लिडिंग के लिए इंटरनैट बेस्ड प्लैटफॊर्म प्रदान करेगा। एमओयू साइऩ करते समय एमआरआईयू के वाइस चांसलर डॊ. एन.सी.वाधवा, एमआरयू के प्रो वाइस चांसलर डॊ. वी.के.महना, एमआरआईयू के डीन अकैडमिक्स डॊ. नरेश ग्रोवर, एमआरवीपीएल के डायरेक्टर श्री अतुल कालरा व टीसीजी डिजिटल सोल्यूशन्स प्राइवेट लिमिटेड की ओर से चीफ आप्रेटिंग आफिसर श्री जोयदीप भट्टाचार्य, असोसिएट डायरेक्ट श्री सुदिप्तो जेना, असोसिएट डायरेक्टर श्री शमशेर बहादुर मौजूद रहे।

एमओयू साइन करने के मौके पर एमआरआईयू के वाइस चांसलर डॊ. एन.सी.वाधवा ने कहा कि मानव रचना ने टीसीजी डिजिटल सोल्यूशन्स के साथ संबंद्ध स्थापित किया है। यह संबंद्ध स्टूडेंट्स को साइबर सिक्योरिटी कोर्स की सुविधा देगा। यह स्टूडेंट्स को रोजगारपरक बनाने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम होगा।टाइअप के बारे में जानकारी देते हुए टीसीजी के चीफ ओप्रेटिंग आफिसर श्री जोयदीप भट्टाचार्य ने कहा टीसीजी अपने पार्टनर मीइल2 के साथ मिलकर इंटरनेट पर आधारित प्लैटफार्म की मदद से साइबर सिक्योरिटी कैपिसिटी बिल्डिंग में कई भूमिका निभाएगी। इसके तहत स्टूडेंट्स को स्टडी मैटीरियल, प्रिंटिड व सोफ्ट कॊपी प्रदान की जाएगी। एक ट्रेन द ट्रेनर मॊडल के तहत 3 बैच में कोर्स चलाए जाएंगे। केवल यहीं नही टीसीजी फैकल्टी को मानव रचना में ट्रेनिंग देने के लिए लगाएगी। इसके साथ साथ वैबिनार की मदद से स्टूडेंट्स की ट्रेनिंग दी जाएगी।

loading...
SHARE THIS

0 comments: