Sunday, September 11, 2016

आपसी रंजिस के चलते युवक की पीट -पीट कर हत्या



 फरीदाबाद(abtaknews.com )  आये दिन घटनाओ को आंजाम देने वाले अपराधियों के हौसले इतने बुलंद है की अब  उन्हें पुलिस से भी कोई डर नहीं लगता । जी हाँ इसका जीता जगता नजारा दिखाई दिया बीती रात जब कुछ गुंडों ने पुराणी रंजिस के चलते एक युवक को  ,एनआईटी फरीदाबाद डीसीपी ऑफिस से मात्र कुछ दुरी पर घेर लिए और उसपर सरियों, लाठी ,डंडो  से हमला कर बुरी तरह से लहूलुहान कर दिया और मरा समझ कर छोड कर फरार हो गए । लेकिन घायल को उसके दोस्त अस्पताल ले गए जहा उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई । वही पुलिस में मृतक के परिजनों के बयान पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है ।

फरीदाबाद के सिविल अस्पताल के शव ग्रह के  बहार खड़े  दिखाई दे रहे यह लोग मृतक रोहित के परिजन है जिसकी बीती रात कुछ गुंडों ने पीट -पीट  हत्या कर दी थी । मृतक रोहित के
भाई नितिन खन्ना और मामा रमेश ने बताया कि रोहित जो  एनआईटी फरीदाबाद की डबुआ कलोनी का रहने वाला था जो बीती रात अपने दो दोस्तों के साथ दिखाइए दे रही इसी सफ़ेद सेंट्रो कार से घूमने फिरने और कुछ खाने के लिए निकला था लेकिन जैसे ही वह  फरीदाबाद के तीन नंबर इलाके में पंहुचा और एक रेस्ट्रोरेंट पर कुछ खाने  का ऑर्डर दिया ही था की उसी समय दो गाड़ी में लगभग 15 गुंडे हांथो में लाठी ,डंडा और  सरिया लेकर उसके पास पहुँच गए और उसका नामा पूछ कर उसे बुरी तरह से पीटने लगे रोहित को पिटता देख उसके दो दोस्त अपनी जान बचा कर भाग खड़े हुए और उसे पीटते हुए किसी ने भी नहीं बचाया । जिससे उसे गंभीर चौटें आई जिसके बाद रोहित को घायल अवस्था में इलाज के लिए पहले तो सिविल अस्पताल में लेकर गए जहा से डॉक्टरों ने रोहित को दिल्ली के लिए रेफर कर दिया लेकिन रोहित की हालात गंभीर थी जिसके चलते उसे फरीदाबाद के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहा उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई ।उनके मुताबित डबुआ कालोनी के ही रहने वाले कुछ लड़को से रोहित का झगड़ा हुआ था जिसके चलते उन्होंने उसपर हमला कर उसकी जान ले ली । जबकि आरोपियों ने जहा घटना को अंजाम दिया उससे कुछ ही दुरी पर एनआईटी डीसीपी का ऑफिस है । 

इस मामले में पुलिस जाँच अधिकारी जाकिर हुसेन का कहना है की बीती रात झगड़े की  सूचना पाकर जब वह मौके पर पहुंचे तो वहां घटना स्थल पर कोई भी नहीं मिला ।  पूछताछ के बाद पता चला की घायल रोहित को उसके दोस्त इलाज के लिए सिविल अस्पताल बी. के. लेकर गए है । जिसके बाद जब पुलिस अस्पताल पहुंची तो घायल बोल रहा था और उसी ने बताया की उसका उसके पडोसी बिट्टू राणा से पिछली होली पर  झगड़ा हुआ था । जिसके चलते बिट्टू राणा और उसके कुछ साथियों ने उस पर हमला कर दिया , जिसके बाद उसे इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहा उसकी मौत हो गई । फ़िलहाल पुलिस ने मामला  दर्ज कर जांच शुरू कर दी है । 


loading...
SHARE THIS

0 comments: