Tuesday, September 27, 2016

पंजाबियों ने शहीद भगत सिंह को दी भावभीनी श्रृद्धाजंलि



फरीदाबाद 27 सितम्बर(abtaknews.com ) राष्ट्रीय पंचनद सेना पंजाबी सभा द्वारा आज शहीदे आजम भगत सिंह के 110वीं जंयती पर  एनआईटी स्थित गौल चक्कर पर स्थापित शहीदे आजम भगत सिंह की मूर्ति पर समाजसेवियों ने माल्र्यापण कर उनको याद किया एवं उन्हें अपनी भावभीनी श्रृद्धाजंलि अर्पित की। श्रृद्धाजंलि अर्पित करने वालों में मुख्य रूप से राष्ट्रीय पंचनद सेना, के राष्ट्रीय अध्यक्ष लवकेश टुटेजा के आदेश पर अखिल भारतीय पंचनद समिति पंजाबी सभा के चेयरमैन प्रेम दीवान, शहरी अध्यक्ष टोनी पहलवान, शहरी महासचिव कुलदीप सिंह साहनी, विष्णू सूद, जोध सिंह वालिया, जगजीत कौर, सुरजीत नागर उपस्थित थे।

इस अवसर पर राष्ट्रीय पंनचद सेना शहीद भगत सिंह का जन्मदिवस के अवसर पर बडी धूमधाम से मनाया यह जानकारी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष लवकेश टुटेजा ने बताया कि पंचनद समाज जिसका मुख्य उदेश्य शहीदो को सम्मान करना,  शहीदो को नमन: करना इस उददेश्य के साथ इस सेना को प्रमुखता से और मजबूत किया जा रहा हे और इस संगठन को बनाया जा रहा है। इसी संदर्भ में हमारे क्रंातिकारी वीर जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपना बलिदान दिया आज समर्पित है हम जो आज आजादी की सांस ले रहे है वो इन्ही वीरो के कारण हम आजादी कारण ले रहे हैं। इस जयंती के दिन हम संकल्प लेते है कि पंचनद सेना को और मजबूत करके और ज्यादा संगठन को बडा करके एक एक कण को जोड़ कर हम सुंदर व दिव्य समाज की स्थापना के प्रति प्रतिबद्ध है और जिस प्रतिबद्धता से पंचनाद समाकर समिति का गठन हुआ है उसमे फरीदाबाद के तमाम नौजवान साथियो को जोडकर उस प्रतिबद्धता को पूरा करेंगे। 

इस मौके पर प्रेम दीवान, टोनी पहलवान व कुलदीप ङ्क्षसह साहनी ने कहा कि स. भगत सिंह का नाम अमर शहीदों में सबसे प्रमुख रूप से लिया जाता है। वह एक सिक्ख परिवार से थे और आर्य समाज के विचार को अपना लिया। उनके परिवार पर आर्य समाज व महर्षि दयानंद की विचारधारा का गहरा प्रभाव था। उन्होंने बताया कि भगत सिंह के जन्म के समय उनके पिता स. किशन सिंह एवं उनके दोनो चाचा अजीत सिंह व स्वर्ण सिंह अंग्रेजों के खिलाफ होने के कारण जेल में बंद थे। जिस दिन भगत सिंह पैदा हुए उनके पिता एवं चाचा को जेल से रिहा किया गया इस शुभ घड़ी के अवसर पर घर में खुशी का माहौल था। आज उनके जन्मदिवस पर हम सभी उन्हे शत: शत: नमन: करते हैं।

इस अवसर पर विष्णू सूद, जोध सिंह वालिया, जगजीत कौर ने कहा कि भगत सिंह देश की आजादी के संघर्ष में ऐसे रमें कि पूरा जीवन ही देश को समर्पित कर दिया। भगतसिंह ने देश की आजादी के लिए जिस साहस के साथ शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार का मुकाबला किया। वह युवकों के लिए हमेशा ही एक बहुत बड़ा आदर्श बना रहेगा। उन्होंने कहा कि आज का दिन हम सभी के लिए काफी महत्व रखता है इसीलिए हमें आज के दिन इस बात की शपथ लेनी होगी कि हमें भी शहीदे आजम भगत सिंह जैसा जज्बा व हिम्मत अपने अंदर लानी है ताकि हम भी बाहरी ताकतों से देश व प्रदेश को बचा सके और अपने भारत में चैन व अमन का वातावरण दे सके।
इस अवसर पर आरडब्लयूए सैक्टर 19 के संयुक्त सुनील कुमार, जसविन्द्र सिंह, सर्बजीत ङ्क्षसह चौहान, नवीन, अमित गर्ग,  प्रशांत अग्रवाल, मनोज शर्मा, मोंटू, जायेन्द्र, तेजेन्द्रि सिंह,, संदीप चोपडा, सुरिन्द्र सिंह, गुरमीत सिंह, सुखविन्द्र सिंह, अमित शर्मा, रोहित तॉयल, मनोज भट्ट, राना,  मनीष कुमार, विजय खट़टर,प्रितपाल सिंह सहित अन्य समाजसेवी उपस्थित थे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: