Thursday, September 15, 2016

दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में फैले डेंगू-चिकनगुनिया पर अंकुश के लिए केंद्र करेगा सहयोग;- जेपी नड्डा


केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री जे. पी. नड्डा ने देश में, विशेष रूप से दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में, डेंगू और चिकनगुनिया की स्थिति की समीक्षा करने के लिए उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी, राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम (एनवीबीडीसीपी) के पदाधिकारी, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, डॉ. आरएमएल अस्पताल, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, सफ़दरजंग अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षकों तथा राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) के अधिकारियों ने भाग लिया। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सचिव श्री सी.के. मिश्रा और अतिरिक्त सचिव श्री के.बी. अग्रवाल तथा वरिष्ठ अधिकारी भी बैठक के दौरान उपस्थित थे।

स्थिति का जायजा लेते हुए श्री नड्डा को दिल्ली, एनसीआर और अन्य राज्यों में डेंगू और चिकनगुनिया के मामलों में हाल ही में हुई वृद्धि के बारे में बताया गया। उन्हें यह भी अवगत कराया गया है कि जनवरी, 2016 से 17 समीक्षा बैठकें (राज्यों के साथ 3 वीडियो कॉन्फ्रेंस सहित) आयोजित की गई है। सभी राज्यों को 11 एडवाइजरी जारी की गई हैं। भारत सरकार ने सभी राज्यों/केन्द्रशासित प्रदेशों से यह अनुरोध किया है कि वे रिपोर्टिंग में सुधार के लिए डेंगू को सूचनीय रोग के रूप में घोषित करे और प्रभावित क्षेत्रों में निवारक उपाय करे। स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से अनेक जागरूकता कार्यक्रम शुरू किए हैं और इन बीमीरियों पर नियंत्रण के लिए विज्ञापन जारी किए हैं। अभियान डेंगू और चिकनगुनिया के प्रोत्साहक और उपचार प्रोटोकॉल के संबंध में जागरूकता का स्तर बढ़ाने के लिए व्यापक आईईसी अभियान शुरू किए गए हैं।

यह आश्वस्त करते हुए कि डरने का कोई कारण नहीं है, श्री नड्डा ने कहा कि मंत्रालय ने चिकनगुनिया के कारण अभी हाल ही हुई मौत के मामलों के बारे में दिल्ली सरकार से व्यापक रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने कहा कि उनका मंत्रालय दिल्ली की सरकार के साथ मिलकर काम कर रहा है और केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने डेंगू से निपटने के अपने प्रयासों को मजबूत बनाने के लिए निगरानी और निदान किटों के रूप में दिल्ली सरकार को सभी तकनीकी सहायता पहले ही उपलब्ध करा दी है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री श्री सतेन्द्र जैन के साथ बातचीत करके उन्हें सभी सहायता उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है। श्री जैन ने भी उन्हें सभी पर्याप्त उपाए किए जाने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि मरीजों के लिए बैड, दवाईयों और परीक्षण सुविधाओं की कोई कमी नहीं है।

समुदाय भागीदारी और सशक्ता, डेंगू और चिकनगुनिया जैसी वेक्टर जनित रोगों की रोकथाम में सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र हैं। उन्होंने लोगों से अपने आसपास के क्षेत्र में उच्च स्तर की साफ-सफाई बनाए रखने की अपील की है। श्री नड्डा ने अधिकारियों से अगले कुछ महीनों के दौरान पूरी तरह सजग रहने और चिकनगुनिया और डेंगू के बारे में जागरूकता और उसकी रोकथाम तथा नियंत्रण के लिए अपनी गतिविधियां और उपाय तेज करने के लिए कहा है ताकि स्थिति पर प्रभावी तरीके से नियंत्रण पाया जा सके। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: