Saturday, September 17, 2016

विधायक ललित नागर ने तिगांव व कौराली के अस्पतालों में किया औचक निरीक्षण





फरीदाबाद(abtaknews.com ) जिले में डेंगू, चिकनगुनिया व मलेरिया के बढ़ते प्रकोप के चलते तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने क्षेत्र के तिगांव स्थित सरकारी अस्पताल व गांव कौराली के राजकीय अस्पताल में आज अचानक औचक निरीक्षण किया। इस दौरान श्री नागर ने केवल वहां भर्ती मरीजों से बातचीत की बल्कि वहां लोगों को दी जाने वाली चिकित्सा सुविधाओं का भी जायजा लिया, जिसमें कई तरह की अनियमितताएं सामने आई। अचानक विधायक के औचक निरीक्षण के चलते दोनों ही अस्पतालों के कर्मचारियों में अफरा-तफरी का माहौल हो गया।  मामला उस समय ज्यादा गंभीर हो गया जब गांव कौराली के राजकीय अस्पताल में विधायक के सामने ही अस्पताल के कर्मचारियों ने शिकायतकर्ता मरीजों व ग्रामीणों के साथ जमकर अभ्रद व्यवहार किया। इतना नहीं विधायक के समझाने के बाद  भी कर्मचारियों के व्यवहार के कोई बदलाव नहीं आया, जिस पर विधायक ललित नागर ने मौके पर ही जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी को फोन करके कर्मचारियों के व्यवहार की शिकायत करते हुए उन्हें बताया कि दोनों ही अस्पतालों में लोगों को स्वास्थ्य सुविधाओं के नाम पर केवल खानापूर्ति की जा रही है।

गौरतलब है कि विधायक ललित नागर को पिछले कई दिनों से लोगों की शिकायतें मिल रही थी कि इन अस्पतालों में साफ-सफाई के अलावा स्वास्थ्य सुविधाएं पूरी तरह से लोगों को नहीं मिल पा रही है और यहां तैनात डाक्टर व कर्मचारी अपनी मनमानी करके लोगों से दुव्र्यवहार करते है, इसी के चलते आज विधायक स्वयं अपने लाव-लश्कर के साथ सर्वप्रथम तिगांव स्थित राजकीय अस्पताल औचक निरीक्षण करने पहुंचे और सरकार से आने वाली स्वास्थ्य सेवाओं की पूरी जानकारी अस्पताल के मुख्य चिकित्सक से ली। इस दौरान अस्पताल में दो डाक्टर डा. विकास एवं डा. रचना मिले, जबकि अन्य स्टाफ नदारद था। इसके उपरांत श्री नागर ने अस्पताल में जाकर देखा तो अस्पताल में पीने का पानी दूषित था और पानी की टंकी में कीडे चल रहे थे, जिसको देखकर विधायक श्री नागर ने उपस्थित डाक्टरों को जमकर लताड़ा।  वहां इलाज करा रहे ग्रामीणों में से कुछ ग्रामीणों ने विधायक को कौराली अस्पताल में चल रही अनियमिताओं के बारे में जानकारी देते हुए वहां चलने का अनुरोध किया।

ग्रामीणों के इस अनुरोध पर विधायक कौराली राजकीय अस्पताल जा पहुंचे तो अस्पताल व स्टाफ के हालात देखकर दंग रह गए।  जब विधायक मरीजों से बातचीत कर रहे थे तो वहां ग्रामीणों का जमावड़ा लग गया और एक के बाद एक शिकायत से विधायक ने वहां मौजूद डाक्टर के पास जाकर ग्रामीणों की शिकायतें रखी। तभी वहां राजकीय अस्पताल में अंदर मौजूद हैल्थ इंस्पेक्टर अशोक हुड्डा व एमपीएचयू डा. कुमार आ धमके और शिकायत करने वाले मरीज व ग्रामीणों पर भडक़ गए और विधायक के समक्ष ही ग्रामीणों एक बाउंसर की तरह धमकाने लगे। पहले तो विधायक इस कर्मचारियों की बातें सुनते रहे ,लेकिन जब वह अपने अभ्रद व्यवहार से बाज नहीं आएं तो विधायक ने उनको समझाने का प्रयास करते हुए उन्हें अवगत कराया कि तुम किसी प्राइवेट अस्पताल में न होकर राजकीय अस्पताल में हो और यह कहकर उन्होंने मौके पर सीएमओ गुलशन अरोडा को फोन कर इन दोनों कर्मचारियों के अभद्र व्यवहार की शिकायत की और इनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने को कहा। उन्होंने कहा कि कहने को यह 30 बैड का अस्पताल है परंतु अस्पताल अस्पताल के बैड के सारे गद्दे फटे हुए है, उनमें खटमल घुसे हुए थे और चादरें भी गंदी है, जबकि एक्सरे रूम में कचरा भरा पडा है, वहीं उन्होंने देखा कि डाक्टर द्वारा अपने कार्यालय में आरओ लगा हआ था, जबकि मरीजों के लिए पीने के पानी का कोई प्रबंध नहीं है, वहीं कैंटीन रूम में स्टेशनरी भरी थी, अस्पताल में पांच पोस्टेड डाक्टर है परंतु चार नदारद मिले। विधायक ने कहा कि अस्पतालों में इन सभी अनियमितताओं के मिलने से यह प्रतीत होता कि प्रदेश सरकार का अधिकारियों व कर्मचारियों पर कोई प्रभाव नहीं है। जहां पूरे प्रदेश में वायरल का प्रकोप चल रहा है वहीं इन अस्पतालों में तैनात स्टाफ स्वयं लोगों को इलाज के नाम पर बीमारी परोस रहा है। विधायक ललित नागर ने कहा कि एक तरफ तो प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज हरियाणा में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर बड़ी-बड़ी बातें कर रहे है, मगर ग्रामीण क्षेत्रों को मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं को देखकर लगता है कि यह सभी बातें मानो बेमानी हो। उन्होंने कहा कि वह इन अस्पतालों में व्याप्त अनियमितताओं को लेकर जल्द ही मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर इन स्वास्थ्य केंद्रों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने की मांग रखेेंगे। इस मौके पर विधायक श्री नागर के साथ मास्टर धर्मबीर नागर, रमेश  नागर, संतराम, सुदेश पाल, मास्टर गजराज, महावीर नंबरदार, धर्मबीर बेदीना, राजबीर भगत जी, विनोद भडाना, कंवरपाल खलीफा, प्रवीन नागर मौजूद थे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: