Sunday, September 18, 2016

जैश के थे चारों आतंकी, पाकिस्तान है आतंकी देश




श्रीनगर(abtaknews.com ) आतंक का पर्याय बन चुके पाकिस्तान को सबक सिखाने का वक्त अब आ चुका  है। उरी में 17 सोते हुए सैनिकों की हत्या करने वाले 4 आतंकी सभी पाकिस्तानी थे। अब आर पार की लड़ाई होनी चाहिए। जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में 12वीं ब्रिगेड की छावनी पर आत्मघाती हमले में भारतीय सेना को जबरदस्त नुकसान हुआ है। इस हमले में सेना के 17 जवान शहीद हो गए हैं। शहीद होने वाले जवाब 10 डोगरा रेजीमेंट के थे। हमले में 19 जवान जख्मी हुए है जिनमें से कुछ की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है।
सुबह करीब चार बजे हुए आतंकी हमले के साथ ही विस्फोटों की आवाज सुनाई दी और मुठभेड़ शुरू हो गई। हमले की चपेट में आई जगह यहां से 102 किलोमीटर और सेना के ब्रिगेड मुख्यालय से कुछ ही मीटर की दूरी पर स्थित है। सूत्रों ने बताया कि हमले के समय डोगरा रेजीमेंट के जवान एक तंबू में सोए हुए थे जिसमें विस्फोट के चलते आग लग गई। आग पास स्थित बैरकों तक भी फैल गई।
इस घटना के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने रूस दौरा स्थगित करते हुए उच्चस्तरीय बैठक बुलाई जिसमें एनएसए अजीत डोभाल और गृह सचिव राजीव महर्षि भी शामिल हुए। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सैनिकों की शहादत पर शोक जताते हुए कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

loading...
SHARE THIS

0 comments: