Wednesday, September 14, 2016

सोनीपत के गांव बढख़ालसा की तर्ज पर नहरपार के गावों के किसानों की अधिग्रहीत जमीन हो मुक्त



सोनीपत (abtaknews.com ) गांव बढख़ालसा की तर्ज पर नहरपार के पांच गावों बडौली, प्रहलादपुर, मिर्जापुर, फज्जूपुर, सीही, की कुल 638$74 एकड जमीन को अधिग्रहण से मुक्त कराने के लिए बैठक कर मांग की है। सरकार ने बढख़ालसा की कुल 212 एकड जमीन को अधिग्रहण से मुक्त कर दिया है और जल्द ही यह जमीन किसानों को वापिस कर दी जायेगी और यह राहत उन किसानों को मिली है जिन्होंने अधिग्रहीत जमीन का मुआवजा 10 साल बाद भी नहीं उठाया है सरकार ने करीब 212 एकड जमीन किसानों को वापिस लौटाने का फैसला किया है। नहरपार के किसानों का अधिग्रहीत का मामला 10 वर्षो से लटका पडा है नहरपार के किसानों ने दस वर्षो से आज तक अपनी जमीन का मुआवजा नहीं उठाया है ना ही अपनी जमीन का सरकार को कब्जा दिया है और सैक्टर-75 व 80 के पांच गावों के किसानों की जमीन जहाँ तहाँ टुकडों में पड़ी हुई है टुकडों में पड़ी हुई जमीन का अधिग्रहण नहीं किया जा सकता क्योंकि नये एक्ट के मुताबिक टुकडों में पड़ी हुई जमीन का अधिग्रहण नहीं किया जा सकता। नहरपार किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष शिवदत्त वशिष्ठ ने कहा कि जल्दी ही किसानों के  एक प्रतिनिधि मण्डल को लेकर माननीय मुख्यमन्त्री से मुलाकात करेंगे और उनसे जिला सोनीपत के गांव बढख़ालसा की तर्ज पर नहरपार की जमीनों को किसानों के हवाले करने की मांग करेंगे और मांग करेंगे कि जो किसानों ने अपनी जमीन को बचाने के लिए प्रशासन व कोर्ट कचेरी के जो चक्कर लगाये है उसका हर्जा खर्चा वापिस किया जाये।


loading...
SHARE THIS

0 comments: