Wednesday, September 7, 2016

पुलिस मुख्यालय पर अनशन पर बैठी गैंगरेप पीडिता, मिल रही बेटियों को गैंगरेप की धमकी





फरीदाबाद 7 सितंबर(अबतक न्यूज़ ) करीब 9 माह से कानूनी तिकडमबाजी में फंसी सामूहिक बलात्कार पीडिता अब न्याय के लिये अपने पूरे परिवार के साथ पुलिस आयुक्त फरीदाबाद के कार्यालय पर आमरण अनशन पर बैठ गई है, हालांकि पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है मगर गिरफ्तारी के नाम पर कोई कार्यवाही नहीं की गई है, जिससे खुले आम घूम रहे दरिन्दे पीडिता के घर में घुसकर मुकदमा वापिस लेने के नाम पर उसकी बेटियों के साथ भी सामूहिक बलात्कार करने की धमकी दे रहे हैं, जिसपर पीडिता ने फेंसला लिया है कि जब तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता तब तक वह पुलिस आयुक्त के कार्यालय पर बैठी रहेगी।

बेटी बचाओ बेटी पढाओं के साथ साथ महिलाओं के सम्मान की बात करने वाली भाजपा सरकार में अब सामूहिक बलात्कार पीडिता को भी न्याय के लिये दर दर भटकना पड रहा है, जिससे परेशान होकर पीडिता ने अब पुलिस आयुक्त फरीदाबाद के कार्यालय पर ही न्याय की मांग करने का फेंसला लिया है। जिसके चलते पीडिता अपने पूरे परिवार के साथ आमरण अनशन पर बैठ गई है। बात दें कि पीडिता पिछले करीब 9 माह से कानूनी तिगडमबाजी में फंसी हुई है, कार्यवाही के नाम पर लगातार पीडिता को पुलिस थाने और पुलिस आयुक्त कार्यालय के चक्कर लगाने पड रहे हैं। दरअसल मामला 31 अक्टूबर 2015 का है, जब तीन युवक और एक महिला, पीडिता को प्लॉट दिखाने के बहाने वृदावन ले गये थे जहां उसे नशीला पदार्थ खिलाकर बारी बारी से तीनों ने उसके साथ बलात्कार किया और उसकी अश£ील वीडियो भी बना ली, जिससे आरोपी महिला को ब्लेकमेल कर एफआईआर दर्ज न करवाने की धमकी देते रहे थे, महिला ने तंग आकर जब एफआईआर करवाने का प्रयास किया तो कानूनी तिकडमबाजी में फंसा दिया गया।

इस बारे में न्याय के लिये अनशन पर बैठी पीडिता के बात की गई तो उन्होंने बताया कि घटना के 4 माह बाद मामला दर्ज किया गया है मगर उन्हें अभी न्याय के लिये चक्कर काटने पड रहें हैं, क्योंकि आरोपी रामपाल, प्रवीण और तन्नु उसके घर में घुसकर उन्हें मुकदमा वापिस लेने की एवज में धमकी दे रहे हैं, हाल ही में तीनों आरोपियों ने घर में घुसकर उसकी 17 बर्षीय नाबालिक बेटी के साथ भी बत्तमीजी की और धमकी दी है कि अगर उन्होंने मामला वापिस नहीं लिया तो जो उसके साथ किया है वो ही उसकी बेटी के साथ करेंगे, इसी के डर से आज वो अपने पूरे परिवार को लेकर पुलिस आयुक्त के कार्यालय पर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये बैठ गई हैं, और पीडिता ने चेतावनी भी दी है कि जब तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जायेगा तब तक वो कार्यालय के सामने आमरण अनशन पर ही बैठी रहेगी।


loading...
SHARE THIS

0 comments: