Thursday, September 29, 2016

सरस्वती हैरीटेज विकास बोर्ड की बैठक



चंडीगढ़, 29 सितंबर(abtaknews.com ) हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल की अध्यक्षता में आज यहां सरस्वती हैरीटेज विकास बोर्ड की बैठक हुई जिसमें कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरुक्षेत्र में सरस्वती नदी से संबंधित अनुसंधान करने के लिए एक अनुसंधान-केन्द्र के लिए 20 लाख रुपये की राशि देने को मंजूरी दी गई।मुख्यमंत्री ने कहा कि वैज्ञानिक तथा सांस्कृतिक पहलू से सरस्वती नदी पर व्यापक शोध गतिविधिां की जानी चाहिए। यह अनुसंधान केंद्र नई पीढ़ी के विद्यार्थियों के ज्ञान को बढ़ाने और शोधार्थियों को  अनुसंधान के प्रति प्रेरित करने में सहायता करेंगा। 

बैठक में निर्णय लिया गया कि सरस्वती नदी में प्रदूषण को खत्म करने के लिए जिला यमुनानगर के सरस्वती नगर और बिलासपुर में सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) स्थापित किए जाएंगे।  मुख्यमंत्री को बताया गया कि सरस्वती नगर और बिलासपुर के 19 गांवों का दूषित पानी पवित्र सरस्वती नदी में गिरता है।  इसी तरह कुरुक्षेत्र कस्बा और पेहवा में जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग द्वारा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाए जाएंगे ताकि दूषित पानी से पवित्र नदी को प्रदूषित होने से बचाया जा सके। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि गांवों के अतिरिक्त पानी को कृषि के सिंचाई के लिए प्रयुक्त करने के लिए प्रस्ताव तैयार किए जाएं। 

मुख्यमंत्री को बताया गया कि पिछले दिनों आस्टे्रलिया से एक प्रतिनिधिमंडल आया था जिसने सरस्वती नदी के पास के क्षेत्र में गंदे पानी के उपचार और सौर ऊर्जा के लिए  एक पायलट परियोजना को लागू करने में गहरी रुचि दिखाई है। उसका पूरा खर्च ऑस्ट्रेलियाई सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। यह भी बताया गया कि इस नदी को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा सरस्वती विरासत विकास बोर्ड द्वारा विभिन्न गतिविधियां आयोजित की गई थी। इसी श्रृंखला में पर्यटन की दृष्टि से इस नदी के साथ लगते महत्वपूर्ण स्थानों को प्रोत्साहित किया जाएगा ताकि देश और विदेश से अधिक से अधिक पर्यटकों के लिए यह आकर्षण का केंद्र बने। इसके अलावा, बोर्ड द्वारा धार्मिक और पुरातात्विक स्थलों विशेषकर हिसार जिले के राखीगढ़ी को प्रदर्शित किया जा रहा है।

इस अवसर पर बैठक में हरियाणा के मुख्य सचिव श्री डी.एस ढेसी, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल, सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती धीरा खंडेलवाल व निदेशक श्री समीर पाल सरो, सामान्य प्रशासन और प्रशासनिक सुधार विभाग के सचिव और हरियाणा सरस्वती हेरिटेज बोर्ड के कार्यकारी अधिकारी श्री विजयेंद्र कुमार, बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री प्रशांत भारद्वाज के अलावा बोर्ड के अन्य सदस्य भी उपस्थित थे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: