Sunday, September 11, 2016

पलवल शहर में साप्ताहिक सत्संग हिन्दी दिवस के रूप में मनाया



पलवल-सितंबर 11,2016(abtaknews.com )आर्य समाज पलवल शहर में साप्ताहिक सत्संग हिन्दी दिवस के रूप में मनाया गयाl जिसमें प्रात: सर्वप्रथम यज्ञ किया गयाl यज्ञ के ब्रह्म श्री ओम प्रकाश शास्त्री तथा मुख्य यजमान विकास मित्तल,अल्पना मित्तल,चमन लखेरा और कु.निशा छाबडा थे l इस अवसर ओम प्रकाश शास्त्री, महाशय राम प्रकाश , मूल चन्द मुखी ,राजेश मंगला आदि नेप्रभु भक्ति के गीत प्रस्तुत किएl पलवल डोनर्स क्लब के मुख्य संयोजक आर्यवीर लायन विकास मित्तल ने बताया कि मेरा जीवन आर्य समाज की विचार धाराओं में बढा और पला है और जब मेरा जन्म हुआ तो हवन हुआ औरसंकट आया तो हवन हुआ, खुशियाँ आईं तो हवन हुआ. एक तरह से देखूं तो हर बड़ा काम करने से पहले हवन हुआ. किस लिए? क्योंकि मेरी एक आस्था है ,हवन कुंड में डाली गयी एक एक आहुति मेरे जीवन रूपी अग्नि को और विस्तार देगी, उसे ऊंचा उठाएगी. इस जीवन की अग्नि में सारे पाप जलकर स्वाहा होंगे और मेरे सत्कर्मों की सुगंधि सब दिशाओं में फैलेगी l उन्होनें कहा कि देश में आज भी लगभग 75 प्रतिशत लोग हिन्दी भाषा का प्रयोग करते है l इसके बावजूद भी देश के ऩौंनिहालों की शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी बनाया हुआ हैl जबकि किसी भी देश की उन्नति के लिए अपनी मातृ भाषा का बहुत बडा योगदान होता है l वही दुसरें देशों जैसे चीन, जापान ,रूस आदि की तरक्की का मूल कारण उनकी अपनी मातृभाषा ही हैl  हद तो तब हो जाती है कि विदेशो मे अध्ययन करने के लिए ४ या ५ साल के व्यवसायिक कोर्स को पढने के लिए १ से २ वर्ष ज्यादा लगाने पडते है क्योकि विदेशों मे व्यवसायिक शिक्षा प्राप्त करने लिए वहाँ की भाषा सीखना अनिवार्य है । अत: कोर्स शुरु करने से पूर्व युवा को वहाँ की भाषा ज्ञान होना जरूरी है। जिसके लिए उसको १ या २ साल वहा की भाषा सीखनी पडती है तब जाकर वह उस व्यवसायिक कोर्स करने की अनुमति मिलती है जबकि हमारे देश ऐसा कुछ भी नही है क्योंकि देश मे सभी शिक्षा संस्थानो और विश्वविद्यालयो मे शिक्षा का माध्यम एक विदेशी भाषा है। हिन्दी के प्रति इस तरह का उपेक्षापूर्ण रवैया बिल्कुल गलत है। आचार्य ओम प्रकाश शास्त्री ने बताया कि हिन्दी के प्रचार प्रसार करने में आर्य समाज सदैव अग्रणीय रहा है l उन्होनें यह भी बताया कि आर्य समाज में त्याग और बलिदान का जीवन बिताकर लोगों ने देश की उन्नति में अपना सर्वश्रेष्ठ दिया है l कार्यक्रम के अन्त में आर्य समाज पलवल शहर के प्रधान श्री चन्द्रशेखर मंगला जी नें यजमानों को जीवन उपयोगी पुस्तकें प्रदान करके सम्मानित किया l इस अवसर पर कृष्ण कुमार भुटानी, जगबीर सिंह गिरधर, हर्षदेव आर्य, खजान सिंह आर्य, जगदीश मुखी, राम लाल आहुजा, यशपाल गर्ग, जगन लखेडा, यशवीर  आर्य, नरेश छाबडा, राजेश मंगला ,कमलेश गर्ग , कैलाश आर्य आदि मुख्य रूप से उपस्थित थेl

loading...
SHARE THIS

0 comments: