Wednesday, September 28, 2016

निगम के कराधान विभाग की बैठक को सम्बोधित करते हुए आयुक्त सोनल गोयल




फरीदाबाद, 28 सितम्बर(abtaknews.com ) फरीदाबाद नगर निगम की आयुक्त श्रीमती सोनल गोयल ने कहा है कि करदाताओं के विरूद्ध सम्पति कर की बकाया लगभग 200 करोड़ रूपये की राशि की वसूली के लिए नगर निगम प्रशासन पूरी ताकत के साथ काम करते हुए यह सुनिश्चित करेगा कि वर्तमान वित वर्ष 2016-17 के दौरान ही इस राशि को वसूली हो।  कराधान विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को कल देर सायं नगर निगम सभागार में हुई एक बैठक को सम्बोधित करते श्रीमती गोयल ने यह बात कही।  बैठक में निगम के संयुक्त आयुक्त बीर सिंह कालीरमन व महाबीर प्रसाद, अधीक्षण अभियंता डी.आर. भास्कर, क्षेत्रिय एवं कर अधिकारी विजय सिंह, प्रेम प्रकाश, महेन्द्र सिंह, अनिल रखेजा, धनराज सिंह व एल.एल. ओ हैड क्वार्टर रतन लाल रोहिल्ला के इलावा कराधान विभाग के कर्मचारी उपस्थित थे।

श्रीमती सोनल गोयल ने आज यहां बताया कि अक्टूबर माह के 19 कार्यदिवसों में कराधान विभाग में पदस्थ 53 कर्मचारियों के द्वारा 50000 से अधिक सम्पति कर के नोटिस वितरित किये जायेंगे।  उन्होंने बताया कि सम्पति कर की कुल 246503 यूनिटों में से 30000 से अधिक यूनिटों को नोटिस जारी किये जा चुके हैं।   उन्होंने बताया कि जिन यूनिटों को नोटिस जारी हो चुके हैं उनमें से जिन यूनिटों के विरूद्ध एक लाख रूपये या इससे अधिक का सम्पति कर बकाया है उनको सील करने की व्यापक स्तर पर शुरू की जायेगी।  उन्होंने बताया कि फरीदाबाद के औद्योगिक शहर होने के बावजूद ट्रैड लाईसेंस फीस के मद से आशा के अनुरूप आय नहीं हो रही है, जिसे गम्भीरता से लेते हुए निगम क्षेत्र में स्थित सभी इकाईयों को लाईसेंस के नेटवर्क पर लाने के लिए तेजी से काम किया जायेगां  उन्होंने बताया कि विकास कार्यों के लिए सरकार के द्वारा चिन्हित की गई्र 66 कालोनियों से 100 करोड़ रूपये से अधिक की विकास शुल्क की राशि वसूल करने के लिए डोर-टू-डोर  सर्वें का काम भी जल्दी शुरू करवाया जायेगा।  इसी प्रकार सम्पति कर  के सर्वे का काम भी शीघ्र करवाया जायेगा।

उक्त बैठक में अक्टूबर माह में सम्पति कर व अन्य करों की वसूली के लिए 14 करोड़ रूपये का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जिसके अनुसार एन.आई.टी. जोन प्रथम को सम्पति कर से 1.50 करोड़ रूपये, लाईससेंस फीस से 10 लाख रूपये, विकास शुल्क से 1 लाख रूपये, एन.आई.टी. जोन द्वितीय को  सम्पति कर से 1.50 करोड़ रूपये, लाईससेंस फीस से 7 लाख रूपये, विकास शुल्क से 3 लाख रूपये, एन.आई.टी. जोन तृतीय को सम्पति कर से 1.50 करोड़ रूपये, लाईससेंस फीस से 5 लाख रूपये, विकास शुल्क से 5 लाख रूपये, ओल्ड फरीदाबाद प्रथम जोन को सम्पति कर से 2.00 करोड़ रूपये, लाईससेंस फीस से 20 लाख रूपये, विकास शुल्क से 2 लाख रूपये, फरीदाबाद ओल्ड जोन द्वितीय को सम्पति कर से 2.50 करोड़ रूपये, लाईससेंस फीस से 30 लाख रूपये, विकास शुल्क से 2 लाख रूपये, बल्लभगढ़ जोन प्रथम को सम्पति कर से 2  करोड़ रूपये, लाईससेंस फीस से 10 लाख रूपये, विकास शुल्क से 5 लाख रूपये और बल्लभगढ़ जोन द्वितीय को सम्पति कर से 2 करोड़ रूपये, लाईससेंस फीस से 5 लाख रूपये, विकास शुल्क से  3 लाख रूपये वसूली का लक्ष्य दिया गया है।


loading...
SHARE THIS

0 comments: