Friday, September 2, 2016

छात्रावास में भोजन की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए लगाई रोटी मेकिंग मशीन




फरीदाबाद, 2 सितम्बर,2016(abtaknews.com) वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद द्वारा विद्यार्थियों की सुविधाओं में विस्तार करते हुए अहम कदम उठाये है, जिसमें चौबीसों घंटे चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से एम्बुलेंस सेवा की शुरूआत तथा छात्रावास में भोजन की गुणवत्ता एवं स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए रोटी बनाने वाली एक ऑटोमैटिक मशीन की स्थापना शामिल है।

कुलपति प्रो. दिनेश कुमार एवं कुलसचिव डॉ संजय कुमार शर्मा ने विश्वविद्यालय की एम्बुलेंस सेवा की शुरूआत झंडी दिखाकर की तथा एम्बुलेंस कुलानुशासक (प्रोक्टर) डॉ मुनीष वशिष्टि को सौंपी। उन्होंने उम्मीद जताई कि नई एम्बुलेंस सेवा विद्यार्थियों को जल्द चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करने में सक्षम होगी। इस अवसर पर संकायाध्यक्ष संस्थान प्रो. संदीप ग्रोवर, चीफ होस्टल वार्डन डॉ विकास तुर्क तथा डॉ अरविंद गुप्ता भी उपस्थित थे।इसी तरह कुलपति ने छात्रावास की मेस में रोटी बनाने वाली एक ऑटोमैटिक मशीन का भी शुभारंभ किया। यह मशीन विश्वविद्यालय के भूतपूर्व छात्र राजेश अरोड़ा जोकि सनशाइन इंडस्ट्रीज में मुख्य कार्यकारी अधिकारी है, द्वारा द्वारा भेंट की गई है। इस मशीन की क्षमता 1000 चपाती प्रति घंटा है। कुलपति ने श्री अरोड़ा का आभार जताया और कहा कि विश्वविद्यालय के विकास के लिए भूतपूर्व छात्रों का योगदान सराहनीय है।

विद्यार्थियों को बेहतर सुविधाएं देने की विश्वविद्यालय की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए प्रो. दिनेश कुमार ने बताया कि विश्वविद्यालय की निःशुल्क एम्बुलेंस सेवा विद्यार्थियों के लिए चौबीस घंटे उपलब्ध रहेगी, जिसका लाभ उठाने के लिए विद्यार्थी प्रोक्टर या चीफ होस्टल वार्डन कार्यालय में संपर्क कर सकते है। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों के लिए चिकित्सा सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए विश्वविद्यालय की डिस्पेंसरी का शीघ्र नवीनीकरण किया जायेगा तथा चिकित्सा सुविधाओं में इजाफा किया जायेगा। यह डिस्पेंसरी विश्वविद्यालय के सभी विद्यार्थियों तथा कर्मचारियों की चिकित्सा जरूरों को पूरा करती है। डिस्पेंसरी में सामान्य जांच की सुविधा एवं दवाईयां उपलब्ध करवाई गई है।डॉ वशिष्टि ने बताया कि नई एम्बुलेंस को प्राथमिक चिकित्सा किट, स्ट्रेचर और अन्य सभी आवश्यक प्राथमिक चिकित्सा उपकरणों से सुसज्जित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा स्थानीय मैट्रो अस्पताल के साथ एक समझौता भी किया है, जिसके तहत अस्पताल के अनुभवी चिकित्सकों की टीम द्वारा विद्यार्थियों को नियमित रूप चिकित्सा देखभाल सेवाएं दी जा रही है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: