Thursday, September 22, 2016

सरकारी व प्राईवेट स्कूल बच्चों को डेंगू,मलेरिया तथा चिकनगुनिया के बारे में जरूर जागरूक करें ;- रामबिलास



चण्डीगढ़, 22 सितंबर(abtaknews.com )हरियाणा के सभी सरकारी व प्राईवेट स्कूलों को सुबह की प्रार्थना-सभा में बच्चों को डेंगू,मलेरिया तथा चिकनगुनिया जैसे गंभीर रोगों के बारे में जागरूक करना अनिवार्य होगा। यह जानकारी देते हुए हरियाणा के शिक्षा मंत्री श्री रामबिलास शर्मा ने आज यहां जारी निर्देशों में कहा कि राज्य सरकार द्वारा जल-जनित रोग डेंगू,मलेरिया तथा चिकनगुनिया आदि को रोकने के लिए गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं। स्कूलों में बच्चों की एक बहुत बड़ी संख्या होती है और वे जागरूकता के कार्यक्रमों में अपनी अहम भूमिका निभा सकते हैं। जल-जनित रोगों के पैदा होने का मुख्य कारण ठहरा हुआ पानी होता है। इस पानी में पैदा मच्छर से ही संक्रामक रोग फैलने का खतरा बना रहता है। ऐसे में स्वच्छता तथा ठहरे पानी का समुचित प्रबंधन करके इन रोगों से बचाव संभव है। 
 
उन्होंने कहा कि कम से कम एक सप्ताह तक राज्य के सभी स्कूलों में ठहरे पानी से होने वाले रोगों के बारे में बच्चों को व्याख्यान आदि के माध्यम से तो जागरूक करना ही होगा,साथ ही इस दौरान जल-जनित रोग डेंगू,मलेरिया तथा चिकनगुनिया आदि से संबंधित संगोष्ठि,सेमीनार,वाद-विवाद प्रतियोगिता,स्लोगन लेखन तथा पेंटिंग प्रतियोगिताओं का आयोजन करवाना है। यही नहीं विज्ञान के अध्यापक को स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर एक डेमोनस्टे्रशन भी करना है। ये सभी कार्यकलाप सुनिश्चत करवाने का दायित्व स्कूल के मुखिया का है। शिक्षा मंत्री ने बताया कि सोमवार के दिन अध्यापकों को यह निरीक्षण करना है कि स्कूल के विद्यार्थियों ने रविवार के दिन अपने घर तथा आस-पड़ौस में  जल-जनित रोगों की रोकथाम के लिए क्या गतिविधियां की हैं? उन्होंने कहा कि अध्यापक विद्यार्थियों को इस बात के लिए प्रेरित करें कि  वे अपने अभिभावकों के साथ मिलकर फोगिंग या घर में रोग रोधी दवा का छिडक़ाव करवाएं। इसके अलावा विद्यार्थियों को इस बात के लिए भी प्रोत्साहित किया जाना चाहिए कि अगर कहीं पाइप आदि में लीकेज आदि दिखाई दे तो इस बारे में पार्षद,सरपंच या जनस्वास्थ्य विभाग को सूचना दें और अगर किसी के घर के पानी की टंकी से पानी बह रहा है तो घर के मालिक को सूचना दें। उन्होंने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को स्कूलों द्वारा करवाए जा रही गतिविधियों का औचक निरीक्षण करने के निर्देश दिए।

loading...
SHARE THIS

0 comments: