Saturday, September 17, 2016

सरकारी स्कूल ने ’खुले में शौच’ मुक्त भारत मुहिम चलाई


फरीदाबाद 17 सितंबर(abtaknews.com )  राजकीय आर्दश वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय ख्वाजा, फरीदाबाद में प्रार्चाय डाक्टर सुरेश सिंह की अघ्यक्षता में जूनियर रैडक्रास ने राष्ट्रीय सेवा योजना इकाईयों व सैंट जान एंबुलैंस बिगे्रड के सहयोग से ‘‘खुले में शौच’’ मुक्त भारत मुहिम चलाई। एन एन एस यूनिट और सैंट जान एंबुलैंस बिगे्रड अघिकारी रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने प्रोग्राम प्रारम्भ करते हुए कहा कि भारत एक विकासशील देश है सभी लोगों के पास शौचालयों की सुविधा नही है, माननीय प्रधानमन्त्री के नेतृत्व में खुले में शौचमुक्त भारत की मुहिम चलाई जा रही है। वर्तमान में विश्व में पिचानवें करोड से भी अधिक लोग खुले में शौच करते है जिन में लगभग पचपन करोड खुले में शौच करने वाले लोग भारत में है, ग्रामीण भारत में ही साठ प्रतिशत से ज्यादा लोग ये लोग खुले में शौच के आदि है। जबकि शहरों में झुग्गी - झोपडी और मलिन बस्तियों में रहने वाले लोग कूडें के ढेर, रेलवे पटरियों पर व इन के आस पास, सडक किनारे खुली जगहों और पार्को व कही भी खाली पडे स्थानों पर शौच करके न केवल वातावरण को प्रदूषित करते है बल्कि अनेकों रोगों को आम़िन्त्रत भी करते है खुले में शौच करने से तरह - तरह के मच्छर और कीट पैदा होते है परिणामस्वरुप गन्दगी के वायरस से पोलियो तथा अन्य कई प्रकार के संक्रमित बीमारियां फैलती है स्वयंसेवको को आज बताया गया कि हम सब को मिल कर अपनी गली, मौहल्ला, कालोनी, गांव, शहर और सम्पूर्ण देश को साफ सुथरा बनाना होगा, घूल व प्रदूषण तथा गन्दगी फैलाने वाले कारणों को समाप्त करने का सामूहिक एवम सार्थक प्रयास करने होंगे। क्योंकि युवा उर्जावान होते है तथा समाज को नई दिशा दे सकते है वे अपने माता - पिता, बहन, भाई, पडोसी तथा सम्बन्धियों को जागरुक कर इस मुहिम में शामिल कर फरीदाबाद को न केवल खुले में शौचमुक्त बनाएं बल्कि स्वच्छ और स्वस्थ शहर बनाने में सहयोग करें। 
राष्ट्रीय सेवा योजना की इकाईयों के प्रभारियों रविन्द्र कुमार मनचन्दा, रुप किशोर शर्मा के नेतृत्व में स्वयंसेवकों ने विद्यालय कि स्वच्छता ईश्वर का दूसरा रुप है हम सब को स्वच्छता बनाए रखने की आदत डाल लेनी चाहिए। इस के अतिरिक्त हम स्वच्छ रहेंगे तो बीमारियों से दूर भी रहेंगे और हमारा शरीर भी स्वस्थ रहेगा।प्रार्चाय डाक्टर सुरेश सिंह, मनदीप कौर, बी के गर्ग, रेनु शर्मा, देशराज गोला, स्टाफ सचिव वीरपाल सिंह, अघ्यापक ब्रहम्देव यादव, प्रेमचन्द, मनोज शर्मा और पी टी आई लोकेश चन्द ने एन एस एस स्वयंसेवकों को आज सीखी गई बातों को जीवनपर्यंत बहुमूल्य ज्ञान के रुप में सहेज कर रखने की शिक्षा दी।

loading...
SHARE THIS

0 comments: